Home » अजब गजब » 400 year old buddhist temple in japan puts faith in robot priest
 

400 साल पुराने इस मंदिर में रोबोट है पुजारी, लोगों को दे रहा ये अनोखा ज्ञान

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 August 2019, 13:10 IST

आमतौर पर मंदिरों में पुरुष ही पुजारी होते हैं. हालांकि कहीं-कहीं महिलाएं भी पुजारी का काम करती हैं, लेकिन क्या कभी आपने किसी रोबोट को पुजारी का काम करते देखा है? जी हां, जापान में एक 400 पुराने बौद्ध मंदिर में रोबोट को पुजारी नियुक्त किया गया है.

मंदिरों में ज्यादातर आपने किसी पुरुष को ही पुजारी क रूप में देखा होगा. या फिर कहीं-कहीं महिला पुजारी के रूप में देखा होगा. लेकिन क्या कभी किसी रोबोट को मंदिर में पुजारी के रूप में देखा होगा. जी, हां आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारेे में बताने जा रहे हैं, जहां पुजारी कोई महिला या पुरुष नहीं बल्कि एक रोबोट है.

यह पुजारी जापान में स्थित 400  पुराने बौद्ध मंदिर में है. इस रोबोट का नाम एंड्रॉयड कैनन है, जो क्योटो के कोदाइजी मंदिर में रखा गया है. इस मंदिर में यह पुजारी हाथ जोड़कर प्रार्थना करता है और वहां आने वाले सभी लोगों को दया और करुणा का पाठ सीखाते हैं. वहीं, अन्य पुजारी इस रोबोट की अन्य काम में मदद करते हैं.

मंदिर रोबोट के बारे में एक अन्य पुजारी टेन्शो गोटो ने कहा, "यह रोबोट कभी नहीं मरेगा. यह समय के साथ खुद को और विकसित करता जाएगा. यहीं इस रोबोट की खासियत है. रोबोट से हमें उम्मीद है कि बदलते बौद्ध धर्म के अनुसार यह अपने ज्ञान में वृद्धि करेगा, ताकि लोगों को उनके सबसे कठिन मुसीबतों से दूर होने में मदद मिल सके."

मंदिर में स्थित यह रोबोट करीब छह फीट लंबा है. इसे हाथ, चेहरे और कंधे को बिल्कुल इंसानी त्वचा से मिलते-जुलते सिलिकॉन से बनाया गया है. हालांकि इस पुजारी को देखकर आप पता लगा सकते हैं कि यह एक रोबोट है. इस रोबोट को तैयार करने में करीब 10 लाख रुपये खर्च हुए हैं. इसे ओसाका विश्वविद्यालय के मशहूर रोबोटिक्स प्रोफेसर और जेन टेंपल (मंदिर) की मदद से बनाया गया है.

बाढ़ के पानी में फंसे सरपंच और सचिव, वीडियो बनाकर लोगों से लगा रहे मदद की गुहार

First published: 17 August 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी