Home » अजब गजब » a man turned down 20 lakh offer save this extinct
 

एक शख्स ने इस लुप्त होती प्रजाति को बचाने के लिए ठुकराया 20 लाख का ऑफर

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 May 2020, 17:12 IST

टोके गेको छिपकली की लुप्त हो रही प्रजाति को बचाने के लिए एक वन्यजीव कार्यकर्ता ने दिल जीत लेने वाला कदम उठाया है. उन्होंने इस पूरी घटना को सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के द्वारा शेयर की थी. इसी के साथ उन्होंने छिपकली शिकारियों से बचने वाली छिपकली की तस्वीर भी शेयर की थी.

सोशल मीडिया के पोस्ट पर उन्होंने लिखा- सरीसृप को अवैध शिकारियों से लड़ने के बाद उनके चंगुल से छुड़ाया गया. साथ ही उन्होंने ट्वीट कर ये दावा किया है कि शिकारी उन्हें 20 लाख रुपये की घूस दे रहे थे, लेकिन वो उस जगह से भागने में सफल रहे. साथ ही उन्होंने लिखा- उन्हें पैसे खोने का कोई पछतावा भी नहीं है बल्कि एक सरीसृप को बचाने पर गर्व महसूस कर रहा हू मैं.


जब भारतीय सेना ने चीन को सबक सिखाते हुए तीन दिन में मार गिराए थे 400 से अधिक चीनी सैनिक

दरअसल चीन और कोरिया के बाजारों में गेको के दाम बहुत ज्यादा है. क्योंकि उनका मानना है कि यह एचआईवी बीमारी ठीक कर सकता है. गेको की एक तस्वीर साझा करते हुए उन्होंने लिखा कि मेरी हथेली पर सुंदर उंगलियां. अवैध शिकारियों से लड़ने के बाद इस लुप्तप्राय सरीस-प को बचाया. मैंने गेको को जंगल में छोड़ दिया.

उन्होंने आगे बताते हुए लिखा- गेको असम और पूर्वोत्तर में पाए जाने वाले लुप्तप्राय टोके गेको की एक प्रजाति है. इन्हें करीब 14 करोड़ 45 लाख रुपये में खरीदा जाता हैं. ज्यादातर चीन, कोरिया के अरबपतियों द्वारा ये प्राणी खरीदे जाते हैं. दरअसल ये लोग मानते हैं कि इसकी जीभ से बनी दवाई से एचआईवी जैसे बड़ी बीमारी जिसका अभी तक कोई इलाज नहीं ठीक हो सकती है.

Video: तेंदुए को खेत में देख शख्स ने मारा डंडा तो हवा में उड़कर ऐसे किया अटैक, देखकर कांप जाएगी रूह

First published: 30 May 2020, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी