Home » अजब गजब » A Town In Alaska Lives In Complete Darkness Every Year For 65 Days
 

65 दिनों तक अंधेरे के आगोश में डूबा रहता है ये शहर, वजह जानकर आप भी रह जाएंगे दंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 February 2019, 16:56 IST

दुनिया के हर कोने में 24 घंटे में दिन-रात होते हैं, लेकिन दुनिया में एक ऐसा भी देश है जहां साल में 65 दिन तक लोग अंधेरे में रहते हैं. नॉर्वे में स्थित 'मिडनाइट सन' नाम से मशहूर ये शहर अपनी इसी विशेषता के लिए जाना जाता है. इस शहर का नाम है यूटीकैगविक. यूकीकैगविट शहर को अगर आप पहली बार देखेंगे तो ये आपको आर्कटिक शहर की तरह लगेगा.

क्योंकि ये शहर पूरी तरह से ठंडा है, जहां साल भर अधिकांश परमाफ्रॉस्ट प्रचलित है, साथ ही ये अंधकारपूर्ण भी है क्योंकि ये पृथ्वी पर सबसे ज्यादा बादल वाली जगहों में से एक है. हालांकि जलवायु प्रतिकूल है. इस शहर में 4000 से ज्यादा लोग रहते हैं, जिनमें अधिकांश लोग अलास्का के मूल निवासी हैं.

बता दें कि ये लोग दुनिया के सबसे उत्तरी सार्वजनिक समुदायों में से एक भी हैं. क्योंकि यूटीकैगविक दूर उत्तर में स्थित है, जिससे यह संयुक्त राज्य में सबसे दूर स्थित उत्तरी शहर बन जाता है. साथ ही, उत्तकागविक के लोगों को निश्चित रूप से इस पर गर्व है, क्योंकि उनका आदर्श वाक्य "द नॉर्दर्न अमेरिकन सिटी" है.

 

बता दें कि इससे पहले यूटीकैगविक शहर को बैरो नाम से जाना जाता था. यूटीकैगविक शहर उत्तरी ढलान बरो का आर्थिक केंद्र है. यहां रहने वाले कुछ लोग तेल क्षेत्र के संचालन में मदद करते हैं. अन्य सरकारी काम पर भरोसा करते हैं. जबकि बाकी पर्यटन से अपना रोजगार चलाते हैं.

बता दें कि आर्कटिक सर्कल में गर्मियों के महीनों में सूरज आधी रात तक निकला रहता है. उस समय सूर्य दिन के 24 घंटों के लिए रहता है. इस दौरान कई आर्कटिक शहर पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों और समारोहों की मेजबानी करते हैं. जो रात में इस जादुई क्षण को देखने का अनुभव करना चाहते हैं.

हालांकि, मध्यरात्रि सूर्य ही एकमात्र घटना नहीं है, जो यूटीकैगविक को दुनिया की भीड़ से अलग खड़ा करता है. अन्य अलास्कन शहरों के विपरीत, यूटीकैगविक में सर्दियों के महीनों के दौरान असामान्य रूप से लंबी ध्रुवीय रात होती है.

यहां की एक रात जो 65 दिनों तक चलती है. मतलब साल के 65 दिन यहां सूर्य नहीं निकलता और यहां सिर्फ अंधेरा छाया रहता है. साल 2018 में, 18 नवंबर को आखिरी बार सूर्यास्त हुआ था. इसके बाद, शहर में 65 दिनों की लंबी रात के आगोश में सोया रहा. उसके बाद यहां 23 जनवरी को पहली बार सूर्योदय हुआ.

ये भी पढ़ें- मुर्गी के खिलाफ महिला ने दर्ज कराई शिकायत तो दंग रह गई पुलिस, जानिए क्या है पूरा मामला

First published: 3 February 2019, 16:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी