Home » अजब गजब » Ajab Gajab News: The world's only deserted island, whose secret has not been known till date
 

Ajab Gajab News: दुनिया का एकमात्र वीरान आइलैंड, जिसका रहस्य आज तक नहीं जान पाया कोई

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 October 2021, 16:53 IST
spina (catch news)

कुष्ठ रोग एक ऐसी बामारी है जिसका इलाज मुमकिन तो है, लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी कई बार यह रोग पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाता है. कुष्ठ रोगी यानि कोढ़ को बहुत बुरी बीमारी माना जाता है. इसके शिकार लोगों को सदियों से समाज से अलग-थलग करने का प्रथा चलती रही है.

भारत में ही नहीं बल्कि पश्चिमी देशों में भी कुष्ठ रोगी के मरीजों के साथ ऐसा सुलूक किया जाता रहा है. ग्रीस या यूनान में तो एक द्वीप को कोढ़ के मरीजों के लिए अलग कर दिया गया था. इस द्वीप का नाम है स्पिनालॉन्गा. स्पिनालॉन्गा का कुल क्षेत्रफल 8.5 हेक्टेयर का है. ये यूनान के सबसे बड़े द्वीप क्रीट के पास स्थित है. ये भूमध्य सागर मे मिराबेलो की खाड़ी के मुहाने पर स्थित है.


किसी जमाने में हुआ करता था एक बड़ा फौजी अड्डा

इस द्वीप पर अब कोई भी नहीं रहता है और अब ये वीरान पड़ा हुआ है. किसी जमाने में स्पिनालॉन्गा द्वीप एक बड़ा फौजी अड्डा हुआ करता था. पहले वेनिस के राजा ने यहां पर सैनिक अड्डा बनाया था. बाद में तुर्की के ऑटोमान साम्राज्य ने यहां पर किलेबंदी कर के रखी. 1904 में क्रीट के निवासियों ने तुर्कों को अपने देश से खदेड़ दिया. इसके बाद स्पिनालॉन्गा को कोढ़ के मरीजों का अड्डा बना दिया गया.

करीब 400 कोढ़ के मरीज रहते थे

इस द्वीप पर एक वक्त में करीब 400 कोढ़ के मरीज रहा करते थे. क्रीट और यूनान के दूसरे हिस्सों से कुष्ठ रोगियों को यहां लाकर रखा जाता था. स्पिनालॉन्गा द्वीप पर कुष्ठ के मरीजों के इलाज का भी कोई इंतजाम नहीं था. यहां एक डॉक्टर तैनात किया गया था, मगर वो भी तब आता था जब इस द्वीप पर रहने वाले कोढ़ी को कोई और बीमारी हो जाती.

साल 1940 के दशक में वैज्ञानिकों ने कोढ़ का इलाज खोज निकाला था. मगर, यूनान की सरकार ने स्पिनालॉन्गा में रहने वालों के इलाज की कोशिश ही नहीं की. कोढ़ के मरीजों का ये केंद्र 1957 तक चलता रहा था. 1957 में एक ब्रिटिश एक्सपर्ट ने यहां का हाल देखा और पूरी दुनिया को बताया. उसके बाद यूनानी सरकार को बेेहद शर्मिंदा होना पड़ा.

अब वीरान हो गया है ये द्वीप

जिसके बाद यहां के सभी लोगों को इलाज के लिए ले जाया गया और कुष्ठ रोगी आश्रम बंद कर दिया गया. जब यहां के कोढ़ के मरीज चले गए तो स्पिनालॉन्गा द्वीप वीरान हो गया. अब यहां कोई नहीं रहता. इस द्वीप पर अब आपको पुरानी इमारतों के खंडहर ही मिलेंगे. कोढ़ियों के लिए बनाए गए बाजार के सबूत भी यहां मिल जाते हैं. इस द्वीप पर आपको एक भट्टी भी मिल जाएगी जिसमें कोढ़ियों के कपड़े जलाए जाते थे.

Video: जिंदा केकड़ा खाना चाहता था मगरमच्छ, पड़ गए लेने के देने, देखिए आगे क्या हुआ

मजेदार Video: आराम से सो रहे युवक के पास से फोन उठा ले गया बंदर, फिर जो किया देखकर रह जाएंगे दंग

First published: 8 October 2021, 16:53 IST
 
अगली कहानी