Home » अजब गजब » Amazing River Of Five Colors Cano Cristales In Colombia Which Changes Color According Weather
 

हर मौसम में रंग बदलती है ये नदी, आप भी देखें इसका खूबसूरत नजारा

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 September 2018, 13:14 IST

कुदरत के रहस्य को आजतक ना कोई समझ पाया और ना ही शायद कभी समझ पाएगा. प्रकृति ने हमारी पृथ्वी पर बेशुमार खूबसूरत और रोमांचक चीजों को दिया है. जो दुनियाभर के हर देश में आपको देखने को मिल जाएंगी. इनमें से एक है पांच रंगों वाली नदी, जो हर साल मौसम के मुताबिक अपना रंग बदल लेती है.

इस नदी का नाम है कैनो क्रिस्टल्स. कैनो क्रिस्टल्स नहीं कोलंबिया में बहती है. ये नहीं सिर्फ नदी ही नहीं है बल्कि प्रकृति की अनूठी कला है जो हर किसी की आंखों को आश्चर्यचकित कर देती है और लोगों को कुदरत के इस करिश्मा पर एकबार को यकीन ही नहीं होता.


कैनो क्रिस्टल्स नदी कोलंबिया के मेटा राज्य के सरानिया दी ला मैकरेना इलाके में बहती है. जो पूर्व में बहने वाली ग्वायाबैरो नदी में जाकर मिल जाती है. कैनो क्रिस्टल्स नदी की लंबाई करीब 100 किलोमीट है, वहीं इसकी चौड़ाई करीब 20 मीटर है.कैनो क्रिस्ट्ल्स नदी के रंग बदलने की ये अद्भुत घटना जून से लेकर नवंबर के बीच कुछ सप्ताह के लिए दिखाई देती है. जब इसका तापमान एकदम सही होता है.

यहां घूमने आने वाले ज्यादातर लोग पास ही के टाउन ला मैकरेना और ट्रेक शहर के नेशनल पार्क होते हुए यहां पहुंचते हैं.

एक खास वक्त में कैनो क्रिस्टल्स नदी का रंग लाल, नीला, पीला, हरा और नारंगी हो जाता है. इसीलिए इस नदी को लिक्विड रैनवो यानि पानी का इंद्रधनुष कहते हैं. कुछ लोग इसे पांच रंगों वाली नदी के नाम से भी जानते हैं.

बता दें कि साल 2000 से पहले यहां हिंसक गतिविधियों वाले कुछ गुट रहते थे, जिस वजह से इस नदी के आस-पास के इलाके सुरक्षित नहीं थे. मगर अब यहां 30 किलोमीटर क्षेत्र में कोलंबियन मिलिट्री ने कब्जा कर लिया है. जहां अब कोई भी बिना खौफ के आराम से घूम सकता है.

कुछ लोग नदी को देखकर ये सोचते हैं कि इसका रंग किसी शैवाल या काई से हो जाता है.मगर ये हकीकत नहीं है. असल में ये कमाल है मैकारैनिया क्लैवीगैरा नाम के एक पौधे का है.

जिसे एक खास मौसम में निश्चित जल-सीमा और निश्चित मात्रा में सूरज की रौशनी मिले, तो ये रंग बदलता है. बता दें कि जनवरी से मई तक गर्मी की वजह से पर्यटकों के लिए इस जगह को बंद रखा जाता है.

ज्यादातर दिनों में इस नदी का रंग हल्का या गहरा गुलाबी और हल्का या गहरा लाल होता है मगर कभी-कभी इसका रंग नीला, पीला, नारंगी और हरा भी हो जाता है.

दुनियाभर में कम लोकप्रिय होने की वजह से यहां विदेशी पर्यटक भले कम आते हैं, मगर स्थानीय लोगों के लिए वीकेंड पिकनिक की ये पसंदीदा जगह है. उसकी वजह इस रंग बदलती नदी के अलावा यहां की प्राकृतिक खूबसूरती है.

प्रकृति की इस खूबसूरती के बरकरार रखने के लिए यहां कुछ नियम भी बनाए गए हैं, जैसे एक ग्रुप में 7 से ज्यादा लोग यहां नहीं जा सकते और एक दिन में 200 से ज्यादा लोगों को इस क्षेत्र में जाने की अनुमति मिलता हैबता दें कि इस नदी में ना कोई मछली पाई जाती है और ना ही कोई अन्य जलीय जीव. इसलिए यहां लोग स्विमिंग का भी आनंद उठाते हैं.

ये भी पढ़ें- इस शख्स ने घर में पाल रखे हैं 400 खतरनाक जानवर, कोबरा-अजगर और मगरमच्छ हैं इसके दोस्त!

First published: 25 September 2018, 13:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी