Home » अजब गजब » Amsterdan Church praying for a family non stop 2327 hours know the reason here
 

एक परिवार को बचाने के लिए चर्च में 2327 घंटे चली प्रार्थना, हुआ ऐसा असर जाकर रह जाएंगे दंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 February 2019, 15:11 IST

कहते हैं कि अगर भगवान से सच्चे मन से प्रार्थना की जाए तो उसका असर जरूर होता है. ऐसा ही कुछ देखने को मिला नीदरलैंड के हेग में. दरअसल, नौ साल से नीदरलैंड में बसे एक अर्मेनियाई परिवार को बचाने के लिए यहां के बीथल चर्च में तीन महीने से अधिक समय तक बिना रुके प्रार्थना चली. जिसे प्रभू यीशू ने बीते बुधवार कबूल कर लिया.

बता दें कि नीदरलैंड के हेग में पिछले साल 26 अक्तूबर से इस परिवार के साथ बीथल चर्च के भीतर लगातार 2,327 घंटे तक लोगों ने पूजा जारी रखी. जिसकी बदौलत अब इस परिवार को नीदरलैंड नहीं छोड़ना पड़ेगा. प्रार्थना के दौरान पुलिस चर्च में प्रवेश नहीं कर सकती और इस तरह परिवार को बाहर नहीं निकाला जा सका.

इतने समय तक लगातार चले पूजापाठ के बाद प्रशासन को पिघलना पड़ा और आव्रजन विभाग ने शरणार्थियों के तमाम आवेदनों को दोबारा विचार करने की घोषणा की, जिससे इस अर्मेनियाई परिवार के साथ साथ नीदरलैंड में शरण मांग रहे सैकड़ों परिवारों को उम्मीद की आस जगी है. डच सरकार के एक आंकड़े के मुताबिक करीब 700 शरणार्थी बच्चों पर इसका सकारात्मक असर पड़ेगा.

बता दें कि आर्मेनिया का तम्राज्यान परिवार 9 साल पहले हेग आया था. इस परिवार में पांच सदस्य हैं जिनमें पिता सासुन, माता एनॉश और उनकी दो बेटियां हयार्पी, वारदुही और बेटा सेयरान शामिल हैं. मामले ने तूल तब पकड़ा जब उनके राजनीतिक शरण की अपील को खारिज कर दिया गया.

इस परिवार में माता पिता, दो बेटियां और एक बेटा है. डच सरकार ने इस परिवार के नीदरलैंड में रहने की अवधि को खत्म कर दिया और इन्हें 25 अक्तूबर 2018 को देश छोड़कर जाने का आदेश दे दिया. उसके बाद इस परिवार को बचाने के लिए चर्च में लगातार प्रार्थना की गई. जो 2,327 घंटे तक चलती रही.

ये भी पढ़ें- मानव बलि देने के लिए तांत्रिक ने मांगी इजाजत, कहा- सबसे पहले बेटे को करूंगा अर्पित

First published: 2 February 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी