Home » अजब गजब » An Indian-origin student sues Oxford University for boring teaching
 

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में होती है बोरिंग पढ़ार्इ, स्टूडेंट ने किया मुकदमा

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 December 2016, 15:33 IST

भारतीय मूल के एक छात्र ने बोरिंग पढ़ाई के लिए ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के खिलाफ मुकदमा किया है. इतना ही नहीं छात्र ने 1 मिलियन पाउंड के हर्जाने की मांग करते हुए आरोप लगाया है कि पढ़ाई के पैटर्न के कारण उसे द्वितीय श्रेणी की डिग्री मिली. इस वजह उसके करियर में उसकी आय प्रभावित हुई है. 

फैज सिद्दीकी ने विश्वविद्यालय के ब्रासनोस कॉलेज में आधुनिक इतिहास की पढ़ाई की थी. उनका आरोप है कि उनके मेन सब्जेक्ट इंडियन इंपीरियल हिस्ट्री में पढ़ाई को लेकर स्टाफ का रवैया लापरवाही भरा रहा. जिसकी वजह से उनका रिजल्ट प्रभावित हुआ और उन्हें द्वितीय श्रेणी की डिग्री मिली.

लंदन के हाईकोर्ट ने इस हफ्ते मामले में सुनवाई की. इस महीने के आखिर में अदालत फैसला सुना सकती है. 'द संडे टाइम्स' अखबार की खबर के अनुसार सिद्दीकी के वकील रोजर मलालियू ने न्यायाधीश से कहा कि समस्या तब आई, जब एशियाई इतिहास पढ़ाने वाले सात शिक्षण कर्मचारियों में से चार शैक्षणिक वर्ष 1999-2000 के दौरान अध्ययन अवकाश पर चले गए.

सिद्दीकी का मानना है कि अगर उसे निचले ग्रेड नहीं मिले होते तो वकील के तौर पर उसका करियर और बेहतर होता. उसने कहा कि इस दौरान हुई पढ़ाई के बोरिंग होने के कारण उसका करियर प्रभावित हुआ, जिसके लिए विश्वविद्यालय जिम्मेदार है. सिद्दीकी अवसादग्रस्त है और उसे अनिद्रा की समस्या है. उसका कहना है कि इसका कारण 'परीक्षाओं के उसके निराशाजनक नतीजे' हैं.

विश्वविद्यालय का कहना है कि यह दावा आधारहीन है और मामला खारिज कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि सिद्दीकी के पढ़ाई पूरी करने के बाद से काफी साल गुजर चुके हैं. 

First published: 7 December 2016, 15:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी