Home » अजब गजब » Aoshima Island Japan which known as Cat Island where cats more than people
 

इस आइलैंड पर रहती हैं दुनिया की सबसे ज्यादा बिल्लियां, इंसानों से 6 गुना अधिक है संख्या

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 December 2019, 17:11 IST

Aoshima Island Japan : दुनियाभर में तमाम आइलैंड (Island) मौजूद है. इन सबसी अपनी-अपनी खूबियां है. ऐसा ही एक आइलैंड है जापान (Japan) में जिसमें दुनिया की सबसे अधिक बिल्लियां (Cats) पाई जाती हैं. इस आइलैंड को इसी के चलते कैट आइलैंड (Cat Island) के नाम से भी जाना जाता है. इस आइलैंड का नाम ओशिमा आइलैंड (Aoshima Island) है. जिस पर इंसानों से अधिक बिल्लियां पाई जाती है. ओशिमा आइलैंड पर इंसानों की आबादी से 6 गुना ज्यादा बिल्लियां है.

एक आंकड़े के मुताबिक इस आइलैंड पर साल 1945 में 900 रहा करते थे. लेकिन अब वहां बिल्लियां ज्यादा देखने को मिलती हैं. इस आइलैंड पर बिल्लियों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है. माना जाता है कि यहां लोगों की तुलना में 6 गुना ज्यादा बिल्लियां पाई जाती हैं. ये आइलैंड ऐसा नहीं था कि यहां सिर्फ बिल्लियां ही रहती थी. असल में द्वितीय विश्व युद्ध के बाद यहां कुछ लोग आकर बस गए थे.

दरअसल, यहां के लोग मछली पकड़ने का व्यवसाय करते थे. इसके अलावा इस आइसलैंड पर कपड़े का भी काम किया जाता था. लेकिन यहां पर चूहों का आतंक शुरु हो गया. जिसके चलते कपड़े के कारोबारियों को परेशानी का सामना होने लगा. क्योंकि चूहे अक्सर कपड़ों को काट दिया करते थे. इससे होने वाले नुकसान से लोग परेशान हो चुके थे.

चूहों के आतंक से निजात पाने के लिए लोगों ने बिल्लियां पालना शुरु कर दिया. ज्यादातर लोगों ने पास के शहरों से बिल्लियों के जोड़े खरीदे और अपने घर पर पालना शुरु कर दिया. कुछ ही दिनों में यहां सकारात्मक परिणाम मिलने लगे. बिल्लियों के आने से चूहों का आतंक कम होने लगा था. सब बहुत खुश थे. उनका काम चल पड़ा था. साथ ही अब नुकसान भी न के बराबर हो गया था.

शुरुआत में तो यह ठीक था. लोग अपने काम के लिए उत्साहित थे, लेकिन इतने भर से उनका जीवन आम नहीं हो सका. इस आइसलैंड पर कई सारी अन्य समस्याएं भी थी. यहां जीवन को बेहतर बनाने की कोई जरुरी सुविधा नहीं थी. यहां अस्पताल और बाजार तक की सुविधा नहीं थी. पूरे आइलैंड पर सिर्फ एक स्कूल था. वह भी जल्द बंद हो गया था. परिणामस्वरूप लोग शहरों की ओर जाने के लिए प्रेरित होने लगे. एक दो परिवारों के पलायन से शुरु हुआ सिलसिला जल्द ही आम हो गया.

उसके बाद धीरे-धीरे यह आइसलैंड खाली होता गया. एक ओर जहां लोगों की संख्या घट रही थी, वहीं दूसरी तरफ बिल्लियों का प्रजनन जारी रहा. जिसके चलते इस आइलैंड पर इंसानों से अधिक बिल्लियों का संख्या हो गई. बता दें कि जापान के लोग बिल्लियों से बेहद प्रेम करते हैं. उनका मानना है कि बिल्लयां उनके लिए बहुत शुभ होती हैं. जापान के बहुत से दुकानदार अपनी दुकान के बाहर एक खास किस्म की गुड़िया रखते हैं, ताकि बिल्लियां वहां आयें. उनका मानना है कि बिल्लियां अगर वहां आती हैं, तो उनकी दुकान में कस्टमर्स की संख्या बढ़ जाती है.

बता दें कि जापानी लोगों का बिल्लियों के साथ एक लंबा रिश्ता रहा है. माना जाता है कि यहां के लोग 1000 से अधिक साल बिल्लियों के साथ रहते आ रहे हैं. लोग अपने घरों में बिल्लियों को घर की सदस्य की तरह पालते आ रहे हैं. वह विभिन्न तरीकों से बिल्लियों से जुड़े हुए हैं. जापान के कुछ इलाकों में तो बिल्लियों की पूजा की जाती है. वहां कई पूजास्थल हैं.

ओशिमा आइसलैंड पर पाई जाने वाली बिल्लियों की सुरक्षा के लिए खास किस्म के इंतजाम इस बात को दर्शाते हैं कि वहां के लोग उनसे कितना लगाव रखते है. बिल्लियों की बढ़ती संख्या खतरनाक हो सकती हैं, बावजूद इसके वहां की सरकार उनका बचाव करती है. इस बात का सबूत ये है कि ओशिमा आइलैंड पर सरकार ने कुत्तों को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर रखा है, ताकि बिल्लियों को बचाया जा सके.

बहरी बच्ची के साथ खेलने और बात करने के लिए पड़ोसियों ने सीखी साइन लेंग्वेज

मस्ती में खेल रहे थे बच्चे, तभी आ गया खूंखार बाघ, Video में देखें फिर हुआ क्या

बच्चों को शरीर का संरचना समझाने के लिए टीचर ने पहना मानव अंगों वाला बॉडीशूट

First published: 26 December 2019, 17:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी