Home » अजब गजब » Australian fisherman’s son found British author of 50 year old message in bottle
 

मछुआरे को बोतल में बंद मिली 50 साल पुरानी चिट्ठी, लिखा था ये संदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2019, 13:11 IST

कोई गुमनाम संदेश किसी को अगर पांच दशक बाद मिले ये अपने आप में अनोखा मामला है. क्योंकि आमतौर पर कागज कुछ सालों में ही जर्जर होकर फट जाते हैं, लेकिन ये कागज का टुकड़ा 50 साल बाद भी सही सलामत हालत में था. दरअसल, ऑस्ट्रेलिया में एक युवक को दक्षिणी तट पर बंद बोतल में एक चिट्ठी मिली. इस चिट्ठी को एक ब्रिटिश बच्चे ने लिखा 50 साल पहले लिखा था और बोतल में डालकर समुद्र में फेंक दिया था.

हाल ही में पॉल इलियट नामक के एक मछुआरे के बेटे जेहा को मछली पकड़ते वक्त ये बोतल मिल गई. मछुआरे ने बताया कि वह अब संदेश लिखने वाले को ढूंढ रहा है जो अब 63 साल का हो चुका होगा. बंद बोतल में मिले इस संदेश में 13 साल के एक ब्रिटिश बच्चे पॉल गिल्मोर ने ऑस्ट्रेलिया के तट की यात्रा का वर्णन है. इतने दिनों तक ये बोतल समुद्र में कैसे तैरती रही अब इसको लेकर लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं. ओसियनोग्राफर डेविड ग्रिफिन ने बताया कि बोतल 50साल तक बहती नहीं रह सकती क्योंकि महासागर कभी रुका हुआ नहीं रहता.

बंद बोतल में मिले इस संदेश में 13 साल के एक ब्रिटिश बच्चे पॉल गिब्सन ने ऑस्ट्रेलिया के तट की यात्रा का वर्णन है. पॉल ने अपने हाथ से लिखी इस चिट्ठी में लिखा है कि उन्होंने एक शिप से फ्रेमेंटर से मेलबोर्न और साउथ ऑस्ट्रेलिया तट की यात्रा की थी. पॉल ने जिस पेपर पर अपना संदेश लिखा वह सितमार लाइन्स नाम की किसी कंपनी का है. उन्होंने उस चिट्ठी के सबसे ऊपर चिट्ठी लिखने वाले दिन की तारीख भी लिखी है. ये तारीख थी 17 नवंबर 1969.

इतने दिनों तक ये बोतल समुद्र में कैसे तैरती रही अब इसको लेकर लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं. ओसियनोग्राफर डेविड ग्रिफिन ने बताया कि बोतल 50साल तक बहती नहीं रह सकती.

उड़ते विमान में बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग करा रही महिला के साथ हुआ कुछ ऐसा, जानकर आप भी रह जाएंगे दंग

First published: 18 July 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी