Home » अजब गजब » Auto lover barber from Bengaluru became hair stylist & owns 150 luxury cars including Mercedes Maybach & Rolls Royace
 

एक देसी नाई, जो है मेबैक-रॉल्स रॉयस जैसी 150 लग्जरी कारों का मालिक

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 March 2017, 18:23 IST

कौन नहीं चाहता कि उसके पास भी एक लग्जरी कार हो. लेकिन बेंगलुरु के एक नाई रमेश बाबू का मामला इससे अलग है. रमेश बाबू 75 रुपये में लोगों के बाल काटते हैं और उन्हें लग्जरी कारों का शौक है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर की मानें तो पिछले महीने रमेश बाबू ने जर्मनी से 3.20 करोड़ रुपये कीमत की मर्सडीज मेबैक कार मंगवाई. बेंगलुरु शहर में विजय माल्या और एक बिल्डर के अलावा रमेश बाबू तीसरे ऐसे आदमी है जिन्होंने यह कार मंगवाई है.

रमेश की 150 लग्जरी कारों में एक रॉल्स रॉयस, 11 मर्सडीज, 10 बीएमडब्लू, 3 ऑडी और दो जगुआर भी शामिल हैं.

रमेश टूर एंड ट्रैवल्स के मालिक रमेश बौरिंग इंस्टीट्यूट स्थित अपने सैलून में रोज पांच घंटे देते हैं. यहां वो अपने नियमित ग्राहकों की हेयर कटिंग-स्टाइलिंग करते हैं.

रमेश आज ही मशहूर नहीं हुए हैं बल्कि इससे पहले भी तमाम टीवी-अखबार-वेबसाइटों में उनकी सफलता के किस्से छप चुके हैं. रमेश बाबू की झोली में तमाम सम्मान-पुरस्कार भी हैं और वो TEDxChristUniversity में लेक्चर भी दे चुके हैं.

एक पेशेवर नाई रमेश अपनी जड़ों को नहीं भूलना चाहते. हालांकि वो अपना काम करने के लिए सफेद रंग की रॉल्स रॉयस घोस्ट को चलाते हैं.

बीते महीने रमेश द्वारा मंगाई गई मर्सडीज मेबैक को उन्होंने भारी भरकर बैंक लोन के साथ अपने पैसे देकर खरीदा. जहां सैलून के धंधे से उन्हें मामूली कमाई होती है, रमेश कारों को किराये पर देने का मुनाफे वाला धंधा भी करते हैं.

विजय माल्या के पास भी मर्सडीज मेबैक है, लेकिन वो गोल्डेन रंग की है. हालांकि जब से वे लंदन गए हैं, तब से उनकी कार बेंगलुरु में दिखाई नहीं दी. कुछ लोगों का कहना है कि इसे बेच दिया गया है, तो कुछ कहते हैं कि यह कार यूबी सिटी में खड़ी हुई है.

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में रमेश ने कहा, "यह बात जानकर मुझे काफी फक्र होता है कि विजय माल्या और एक बिल्डर के बाद अकेला मैं ही हूं जिसके पास मर्सडीज मेबैक कार है."

उन्होंने कहा, "भगवान मेरे साथ हैं और मैंने यहां तक पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत की है. मेरा सपना है कि जो भी लग्जरी कार आज मौजूद है, मैं उसे खरीदूं. और रॉल्स रॉयस के बाद अब मर्सडीज-मेबैक की बारी है. इसे चलाने में बहुत रोमांच है."

 

"मैं उन परेशानियों को नहीं भूलना चाहता... जब पिता की मृत्यु के बाद मेरी मां ने मुझे गरीबी में पाला. इसलिए मैं सैलून में काम करना जारी रखूंगा. मैं इस लग्जरी को केवल अपने पेशे की वजह से ही पूरा कर पा रहा हूं. आगे मुझे ऐसी और कारें लेनी हैं."

रमेश जब केवल सात साल के थे, उनके पिता चल बसे थे. गरीबी की वजह से उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी और नाई बन गए.

अपनी कड़ी मेहनत और अच्छे संपर्कों के चलते वो धीरे-धीरे हेयर स्टाइलिस्ट बन गए. 1994 में उन्होंने मारुति ओमनी वैन खरीदी और इसे किराये पर देना शुरू कर दिया.

इसके बाद अब उनके पास 150 लग्जरी कारें है. इनमें से कुछ को वो अपने काम में जाते वक्त इस्तेमाल करते हैं और अगर अच्छे ग्राहक मिलें तो इन्हें भी किराये पर दे देते हैं. 

इतना ही नहीं उनके पास 10 लोगों से ज्यादा का स्टाफ और 140 ड्राइवर भी हैं जो उनकी 150 से ज्यादा कारों को चलाते हैं. उनकी कारें शाहरुख खान, ऐश्वर्या राय बच्चन जैसे बॉलीवुड सितारे भी किराये पर ले चुके हैं.

First published: 2 March 2017, 18:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी