Home » अजब गजब » Bihar: wife reached court in muzaffarpur which murder's case his husband was in jail
 

पत्नी की हत्या के जुर्म में 7 माह से जेल में था युवक, कोर्ट में हुई जिंदा, बोली- मेरे पति को छोड़ दो

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 June 2019, 15:10 IST

बिहार के मुजफ्फरपुर कोर्ट में जज से लेकर पुलिस और आम लोग तब हैरान रह गए, जब एक पति की दस वर्ष पहले मरी हुई पत्नी अचानक जिंदा हो गई और. पत्नी ने आधार कार्ड दिखाते हुए कहा कि हुजूर, मैं जिंदा हूं. मेरे पति को छोड़ दो. 

मंगलवार को मुजफ्फरपुर कोर्ट में एक महिला कोर्ट में पहुंच गई. महिला ने खुद को 10 साल पहले मरी हुई परसा निवासी रेखा देवी बताया. रेखा देवी की हत्या के आरोप में परसा निवासी विजय सिंह यानि उनका पति बीते सात माह से जेल में बंद है. इसके बाद महिला ने विजय सिंह की पत्नी होने के सबूत के तौर पर आधार कार्ड पेश किया और कहा कि मेरे पति को छोड़ दो.

पत्नी की हत्या के जुर्म में विजय 30 नवंबर 2018 से जेल में था. हत्या के एफआईआर के सात साल बाद पुलिस ने विजय को फरार दिखाते हुए साल 2017 में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी. जांच अधिकारी ने चार्जशीट में विजय की फरारी की स्थिति में उसके घर की कुर्की की बात कही थी. चार्जशीट में हत्या का सबूत छिपाने की धारा के तहत केस दर्ज किया गया था. 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, विजय के खिलाफ 30 सितंबर 2010 को हत्या का मामला सामने आया था जब गिद्धा के रहने वाले एक चौकीदार दिनेश पासवान ने साहेबगंज थाना में बयान दिया था कि विजय ने अपनी पत्नी की हत्या की है. इसके बाद विजय के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई थी.

दिनेश पासवानने एफआईआर में बताया था कि उसे लखनापुल स्थित तिरहुत कैनाल नहर के पास बोरी में शव मिला है. उसने जब पूछताछ की थी तो पता लगा कि एक साल पहले विजय ने असम में शादी की थी और पत्नी को अपने घर लाया था. तब उसे एक बच्ची भी थी. चौकीदार ने बताया था कि कई दिनों से विजय के घर में ताला बंद है.

चौकीदार ने दावा किया था कि विजय सिंह ने पत्नी की हत्या कर शव को बोरे में बंद कर फेंक दिया है. इसके बाद वह फरार हो गया. हालांकि महिला जिंदा थी और वह अपने पति को छोड़कर चली गई थी. रेखा देवी के वकील ने इस बाबत बताया की जब उसे पता चला कि उसका पति उसकी हत्या के केस में सात महीने से जेल में बंद है तो वह न्यायालय आई और जिंदा होने के सबूत पेश किए.

First published: 12 June 2019, 15:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी