Home » अजब गजब » Buffaloes Fight For Entertainment After Drink In Pratapgarh Rajasthan
 

यहां भैसों को शराब पिलाकर किया जाता है मनोरंजन, नशे में धुत भैंसे करते हैं 'मल्ल युद्ध'

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 November 2018, 13:23 IST

अपने मनोरंजन के लिए जानवरों के साथ क्रूर व्यवहार करना कानूनन अपराध होता है, बावजूद इसके लोग ऐसा करने से गुरेज नहीं करते. जनवरों के साथ क्रूरता की ये कहानी राजस्थान के प्रतापगढ़ से सामने आई है, जहां भैसों को शराब पिलाकर क्रूरता की सभी हदें पार कर दी जाती है.

ये तस्वीरें राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले के छोटीसादड़ी से सामने आई हैं. जो दीपावली के एक दिन की हैं. खबरों के मुताबिक यहां भैंसों को शराब पीला कर लड़ाया जाता है. वहीं, इस खेल को देखने के लिए कई गावों के हजारों लोग इकट्ठे होते हैं. हालांकि प्रशासन को भी इस खेल के बारे में पता है. लेकिन परंपरा के नाम पर प्रशासन भी मौन बैठा हुआ है. बताया जाता है कि ये प्रथा यहां सालों से चली आ रही है.

ये भी पढ़ें- इस देश में शराब में सोना मिलाकर पीते हैं लोग, बेहद अद्भुत है पीछे की कहानी

ये भी पढ़ें- समुद्र में बह रहा था 18 महीने का मासूम, किस्मत ने ऐसे बचाई जान

ये भी पढ़ें- रेस्टोरेंट में महिलाओं ने की बदसलूकी तो वेटर्स ने ऐसे सिखाया सबक, देखर ग्राहकों सिट्टी-पिट्टी हो गई गुम

अपने मनोरंजन के लिए पशुओं को शराब पीला कर लड़ाना मानवता को शर्मशार करता है. पशुओं को ऐसा करने के लिए मजबूर करना मानवता की कोटी में कतई नहीं आता है. लेकिन लोग ऐसी प्रथाओं से घिरे हैं कि उन्हें यह सारी चीजें दिखाई ही नहीं देती और वो इन कुप्रथाओं को आज भी खुलेआम अंजाम देते हैं.

प्रतापगढ़ जिले के छोटीसादड़ी में मनोरंजन के लिए खेल आयोजित किया गया. यह खेल इंसानों के बीच नहीं बल्कि पशुओं को बीच होती है. सालों से चली आ रही गोवर्धन पूजा के दिन भैंसों को शराब पीला कर लड़वाया जाता है. इस खूनी खेलों को देखने के लिए सैकड़ों की भीड़ के साथ-साथ स्थानीय गणमान्य लोग भी शामिल होते हैं.

ये भी पढ़ें- उड़ते विमान में एयर होस्टेस ने कर दी ऐसी हरकरत, दंग रह गए लोग, देखें वीडियो

ये भी पढ़ें- शादी के दो घंटे बार दूल्हा-दुल्हन ने भरी मौत की उड़ान, हेलिकॉप्टर दुर्घटना में हुई मौत

ये भी पढ़ें- 8 साल नन की ट्रेनिंग लेने के बाद पोर्न स्टार बन गई ये लड़की

यहां इस साल भी भैंसों की लड़ाई से पहले प्रतापगढ़ के छोटीसादडी के बाजार में जुलुस निकाला गया. जुलुस के दौरान यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी समेत कई गणमान्य लोग भी मौजूद थे. हालांकि वह खेल देखने नहीं आए. जुलुस के बाद भैंसों को गोमाना चौराहे के पास स्थित एक खेत में ले जाया गया

जहां दोनों भैंसों को पहले शराब पिलाई गई और फिर दोनों को लड़ाया गया. दोनों भैंसों में दो बार लड़ाई हुई. इसमें बादल नाम का भैंसा जीता. इसके बाद जीतने वाले परिवार ने जश्न भी मनाया. इस मौके पर न सिर्फ ग्रामीण, बल्कि प्रशासन के कई अधिकारी जैसे- उपखंड अधिकारी प्रकाश रेगर, तहसीलदार गणेशलाल पांचाल और DSP विजय पाल सिंह भी मौजूद रहे. इसके अलावा पुलिस के जवान और एक एम्बुलेंस भी खड़ी रही.

ये भी पढ़ें- इस कंपनी ने काम पूरा ना करने पर कर्मचारियों को पेशाब पिलाकर की ये घिनौनी हरकत

ये भी पढ़ें- देखते-देखते गायब हो गया पूरा आइलैंड, देखने वालों की निकल गई चीख

ये भी पढ़ें- ये लड़की अपने बदबूदार मोजे और जूतों की कर रही ऑनलाइन बिक्री, कमाई के तोड़े रिकॉर्ड

First published: 9 November 2018, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी