Home » अजब गजब » Chinese fire therapy treatment of prader willi syndrome
 

इलाज का अनोखा तरीका, इंसानों को आग में जलाकर इस बीमारी से मिलती है निजात

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 July 2018, 10:55 IST

भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर में इलाज के लिए अनोखे तरीके अपनाए जाते हैं. भारत में आयुर्वेद से इलाज किया जाता है तो चीन में भी इलाज के लिए एक विशेष तरीके को अपनाया जाता है. जिसे फायर थेरेपी कहा जाता है. यानि मरीज का इलाज आग से झुलसा कर किया जाता है.

चीन में फायर थेरेपी पिछले 100 सालों से चलन में है. यहां आज भी आग से झुलसा कर बीमार लोगों का इलाज किया जाता है. मरीज का इलाज भी अनोखे ढंग से किया जाता है. दरअसल, मरीज के शरीर पर पहले अल्कोहल का छिड़काव किया जाता है. उसके बाद उसमें आग लगा दी जाती है.

कुछ लोग इसे एक खास तरह का इलाज कहते हैं, जिससे तनाव, बदहजमी, बांझपन से लेकर कैंसर का इलाज किया जा सकता है. चीन के चिकित्सक पिछले 100 साल से फायर थेरेपी को अपना रहे हैं. आजकल फायर थेरेपी के कई वीडियो और तस्वीरे सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं.

हालांकि इन वीडियो के माध्यम से आप यह नहीं जान पाएंगे कि यह थेरेपी सच में कारगर है या नहीं. बता दें कि इस थेरेपी के कारगर होने के हमें कोई प्रमाण नहीं मिले हैं और आप इस थेरेपी को अपनाने की गलती ना करें. क्योंकि बिना किसी एक्सपर्ट और चिकित्सक की सलाह के ये आपके लिए नुकसानदायक हो सकती है.

बता दें कि फायर थेरेपी से इलाज करने के लिए चीन में झांग फेंगाओ काफी लोकप्रिय हैं. उनके मुताबिक, फायर थेरेपी मानव इतिहास की चौथी सबसे बड़ी क्रांति है. इसनें चीन और पक्षिमी देश की इलाज पद्धतियों को काफी पीछे छोड़ दिया है.

फेंगाओ अपने बीजिंग के एक छोटे से अपार्टमेंट में लोगों का फायर थेरेपी से इलाज करते हैं. पहले वो मरीज की पीठ पर जड़ी-बूटियों का लेप लगाते हैं, उसके बाद उसे एक तौलिये से ढक देते हैं. फिर उसपर पानी और अल्कोहल का छिड़काव करने के बाद आग लगा देते हैं.

ऐसा माना जाता है कि आग की गर्मी और जड़ी-बूटियों का मिश्रण तुरंत ही शरीर को राहत पहुंचाने का काम करता है. इलाज की यह विधि चीन की प्राचीन मान्यताओं पर आधारित है.

इस विधि में शरीर की गर्मी और ठंढक के बीच सामंजस्य बनाने पर जोर दिया जाता है. फेंगाओ के मुताबिक शरीर की ऊपरी सहत को गर्म करके अन्दर की ठंढक को दूर किया जाता है. ये ट्रीटमेंट प्रेडर विली सिंड्रोम नाम की बीमारी से ग्रस्त लोगों को दिया जाता है. बता दें कि प्रेडर विली सिंड्रोम बीमारी में इंसान की वजन लगातार बढ़ता जाता है.

ये भी पढ़ें- अपनी बेटी के साथ हर रोज कब्र में सोता है ये शख्स, वजह जानकर चौंक जाएंगे

First published: 5 July 2018, 10:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी