Home » अजब गजब » Christian man built Siddhi Vinayak temple for two crores, considers his progress to be the blessings of Ganesha
 

ईसाई शख्स ने दो करोड़ में बनवाया सिद्धि विनायक मंदिर, अपनी तरक्की को मानता है भगवान गणेश का आशीर्वाद

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2021, 10:22 IST
temple story (social media)

Karnataka: कर्नाटक में एक ईसाई शख्स ने भगवान गणेश को समर्पित 2 करोड़ रुपये का भव्य सिद्धि विनायक मंदिर बनवाया है. वह अपनी तरक्की को भगवान गणेश का आशीर्वाद मानता है. शख्स का नाम गैबरिएल नाजेरथ (Gabriel Nazareth) है. गैबरिएल 13 साल के थे तो उनकी जेब में मात्र 3 रुपये थे, जिसे लेकर वह मुंबई आ गए थे.

उस समय उन्‍हें पता भी नहीं था कि कहां जाना है और क्‍या करना है! इस दौरान गैबरिएल ने कई रात फुटपाथ पर सोकर गुजारी तथा भूखे पेट भी रहे. उन्होंने अपना पेट भरने के लिए कई छोटे-मोटे काम भी किए. एक दिन उन्‍हें मुंबई में सिद्धि विनायक मंदिर के पास स्थित एक मेटल डाई की दुकान पर नौकरी मिल गई.

इसके बाद से गैबरिएल जब भी सिद्धि विनायक मंदिर के बाहर से निकलते थे, तो हाथ जोड़कर भगवान से अपनी तरक्की के लिए प्रार्थना करते थे. वह धीरे-धीरे भगवान गणेश के भक्‍त हो गए. गैबरिएल ने पूरी मेहनत और लगन से अपना काम चालू रखा. इसके बाद उन्होंने खुद का अपना बिजनेस खोल लिया. जिसमें उन्‍होंने बहुत अच्‍छा पैसा कमाया.

फिर उन्‍होंने तय किया कि वह अपने गांव जाएंगे और रिटायर्ड जिंदगी जिएंगे. तो उन्होंने अपना कारोबार बेच दिया और अपना सामान कर्मचारियों को देकर कर्नाटक के उडुपी से 14 किलोमीटर दूर स्थित अपने गांव शिरवा आ गए. उन्‍होंने शादी नहीं की थी. शिरवा में उनके पास एक पुश्‍तैनी जमीन थी. उस जमीन पर उन्होंने अपने मां-बाप की स्‍मृति में भगवान गणेश का भव्य मंदिर बनवाने का निर्णय लिया.

उन्‍होंने सिद्ध‍ि विनायक मंदिर का निर्माण अगस्‍त 2020 में करवाना शुरू किया. अब यह मंदिर पूरी तरह बन गया है. गैबरिएल के दोस्‍त सतीश शेट्टी कहते हैं कि अपने जीवन में उनके दोस्त ने कई मुश्किलों का सामना किया. कई दिन तो बिना खाए उन्होंने बिताए. उन्हें जो कुछ भी मिला है, वह भगवान सिद्धि विनायक के आशीर्वाद से मिला है. 

अजब: दूल्हे ने दहेज लेने से किया मना तो ससुराल वालों ने किया ऐसा काम, देखकर हैरान रह गए लोग

First published: 20 July 2021, 10:22 IST
 
अगली कहानी