Home » अजब गजब » Coronavirus: Migrant labour cut plaster of his fractured leg and walking his home on foot
 

कोरोना वायरस: पैर में चढ़ा प्लास्टर अपने हाथ से काटा, फिर चल दिया सैकड़ों किमी पैदल गांव

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2020, 15:36 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस को लेकर देशभर में लॉकडाउन की स्थिति है. वहीं दूसरी तरफ बड़े शहरों से मजदूर अपने घरों के लिए पैदल ही निकल रहे हैं. ये मजदूर किसी भी तरह अपने गांव पहुंचना चाहते हैं. फिर चाहे उन्हें इसकी कैसी भी कीमत चुकानी पड़े. एक मामला मध्य प्रदेश से आया है, यहां एक मजदूर के पैर में प्लास्टर था. जिसे घर जाने के लिए उसने अपने हाथों से काट डाला.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राजस्थान के रहने वाले भंवरलाल के टूटे पैर में प्लास्टर चढ़ा हुआ था, लेकिन घर जाने के लिए उसने अपने टूटे हुए पैर का प्लास्टर अपने हाथों से काट डाला. इसके बाद वह पैदल ही कई सौ किलोमीटर अपने घर के लिए निकल पड़ा. 

इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वीडियो में भंवरलाल अपना प्लास्टर काटता दिखाई पड़ रहा है. जब घर जाने के लिए वह पैदल रवाना हुआ तो उसे मंदसौर के पास एक चेकपोस्ट पर रोका गया. इसके बाद उसने बताया कि उसे राजस्थान के बारां जिले में अपने गांव पहुंचने के लिए अभी 240 किलोमीटर का सफर और तय करना है.

मंदसौर के चेकपोस्ट पर रोके जाने के बाद उसने बताया कि यहां तक वह एक गाड़ी में बैठकर आया था. भंवरलाल ने बताया कि पुलिस सीमाओं पर रोक रही है, लेकिन उनके पास कोई और विकल्प नहीं है. उन्होंने बताया कि उनका परिवार अकेला है और अब उनके पास यहां कोई काम नहीं है. परिवार को वह पैसे भी नहीं भेज पा रहे हैं. इस कारण उन्हें 242 किलोमीटर दूर उनके गांव जाना है.

 
 

Coronavirus: नोएडा की कंपनी में काम करता था युवक, अपने घर जाकर 5 लोगों को किया पॉजिटिव

कैच ब्यूरो| Updated on: 31 March 2020, 12:53 IST
 

Coronavirus: कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश भर में खौफ फैला हुआ है. इसे लेकर संपूर्ण देश में लॉकडाउन की स्थिति है. कोरोना वायरस का संक्रमण न फैले इसे लेकर सरकार ने लोगों को घरों में रहने को कहा है. इसके बाद भी हर रोज कोरोना वायरस के केस बढ़ रहे हैं. उत्तर प्रदेश के बरेली से एक बड़ी खबर आई है.

बरेली का रहने वाला एक युवक नोएडा की एक कंपनी में काम करता था. वह नोएडा से अपने घर बरेली पहुंचा. कई दिन रहने के बाद उसे पता चला कि उसकी वजह से उसके ही परिवार के पांच लोगो कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए हैं. युवक समेत एक ही परिवार से 6 लोगों को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने से इलाके में हड़कंप मच गया.

 

इसके बाद आनन फानन में इन 6 लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया. गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. वहीं, दूसरी तरफ स्वास्थ्य मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश के बरेली में प्रवासी मजदूरों पर रासायनिक घोल का छिड़काव करने की घटना को ‘अति उत्साह में की गयी कार्रवाई' बताया.

स्थानीय प्रशासन ने इस पर संज्ञान लिया और कर्मचारियों पर कार्रवाई की है. दरअसल, रविवार को बरेली पहुंचे प्रवासी मजदूरों को कथित संक्रमण मुक्त करने के लिए बस अड्डे पर सोडियम हाइपोक्लोराइड के घोल का मजदूरों पर छिड़काव किया गया. छिड़काव के बाद कुछ लोगों ने आंख में जलन की शिकायत की थी.

चीन में सबसे पहले ये महिला हुई थी कोरोना पॉजिटिव, उसके बाद दुनियाभर में मच गई तबाही

कोरोना वायरस ने स्पेन में बरपाया कहर, राजकुमारी मारिया टेरेसा का निधन, अब तक 5,982 लोगों की मौत

कोरोना वायरस की महामारी का इस देश में नहीं है कोई खौफ, आमदिनों की तरह चल रहा जीवन

 

First published: 31 March 2020, 15:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी