Home » अजब गजब » Dhirubhai Ambani International School: Four and half lakh rupees fees to study
 

अंबानी के स्कूल में पढ़ने के लिए भरनी पड़ती है साढ़े चार लाख रुपये फीस, बड़े-बड़ों का नहीं होता एडमिशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 December 2020, 15:59 IST

Dhirubhai Ambani International School: अधिकांश मां-बाप अपने बच्चों को देश के सबसे अच्छे स्कूल में पढ़ाने की ख्वाहिश रखते हैं. मां-बाप की कोशिश होती है कि भले ही उन्हें असुविधाओं का सामना करना पड़े लेकिन उनके बच्चों की शिक्षा में कोई कमी न रहे. लेकिन कई बार मां-बाप अपने बच्चों को ज्यादा फीस की वजह से भी उनका एडमिशन अच्छे स्कूल में नहीं करा पाते.

ऐसा ही एक स्कूल है मुंबई स्थित धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल. यह देश के टॉप टेन स्कूलों में शामिल है. यहां अपने बच्चों को पढ़ाना हर मां-बाप का सपना होता है. लेकिन महंगी फीस की वजह से वह अपने बच्चे का एडमिशन यहां कराने की हिम्मत नहीं जुटा पाते. इस स्कूल की फीस जानकर बड़े-बड़ों का पसीना निकल जाता है. 

धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल में ज्यादातर सेलेब्रिटीज के बच्चे ही पढ़ने आते हैं. यहां सचिन तेंदुलकर से लेकर शाहरुख खान, ऐश्वर्या राय, श्रीदेवी जैसे दिग्गजों के बच्चे पढ़ चुके हैं. इस स्कूल की चेयरपर्सन मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी हैं. नीता अंबानी की बहन ममता इस स्कूल में टीचर भी हैं.

धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल को देश के 10 शीर्ष स्कूलों में माना जाता है. यह स्कूल साल 2003 में शुरू हुआ था. इसे नंबर वन इंटरनेशनल स्कूल का भी खिताब मिल चुका है. यह स्कूल सात मंजिला है. इस में एलकेजी से लेकर 7वीं कक्षा तक की फीस 1 लाख 70 हजार रुपये है. वहीं कक्षा 8 से लेकर कक्षा 10 तक की फीस 1 लाख 85 हजार रूपये है. जबकि 8वीं से 10वीं तक IGCSE Board की फीस यहां 4 लाख 48 हजार रुपये है.

मुकेश अंबानी ने अपने पिता की याद में इस स्कूल को खोला था. इस स्कूल में मां-बाप अपने बच्चों के एडमिशन के लिए काफी जोर आजमाइश करते हैं. हालांकि यहां पढ़ाना हर किसी के बस की बात नहीं है. इस स्कूल में शायद ही ऐसी कोई अत्‍याधुनिक सुविधा होगी जो न हो. स्कूल की सिक्‍योरिटी ऐसी है कि परिंदा भी गलती से पर न मार सके.

पति का हो गया पत्नी से झगड़ा, गुस्सा शांत करने के लिए कर बैठा ये काम, जानकर रह जाएंगे हैरान

सांप रोजाना चोरी कर खा जाता था अंड़े, मुर्गी ने सिखाया ऐसा सबक कि हालत हो गई खराब

First published: 8 December 2020, 15:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी