Home » अजब गजब » Duke brave dog who survived a knife plunged into his head in South Africa
 

मालिक की जान बचाने को लुटेरों से भिड़ गया बहादुर कुत्ता, लहूलुहान होने के बाद भी किया डटकर मुकाबला

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2019, 13:11 IST

कुत्तों को इंसान का सबसे अच्छा दोस्त और वफादार जानवर माना जाता है. कई बार इस तरह की खबरें में सामने आती हैं जो ये सिद्ध करती हैं कि वाकई कुत्ता इंसान का सबसे अच्छा दोस्त होता है. एक बार फिर से एक कुत्ते ने अपनी जान पर खेलकर इस बात को साबित कर दिया. मामला, दक्षिण अफ्रीका का है. जहां अपने मालिक की जान बचाने के लिए एक कुत्ता लुटेरों से भिड़ गया और अपनी जान गंवा बैठा.

दरअसल, केपटाउन के रहने वाले जिनो वेंसल ने जर्मन शेफर्ड नस्ल का एक कुत्ता पाल रखा था. उन्होंने इस कुत्ते को ड्यूक नाम दिया. पिछले दिनो जिनो वेंसल पर कुछ लुटेरों ने हमला कर दिया. तभी उनका पालतू कुत्ता ड्यूक उनके बचाव में आ गया. कुत्ते ने जैसे ही हमलावरों पर भौंकना शुरु किया. एक हमलावर ने ड्यूक के सिर में चाकू घोंप दिया. लेकिन फिर भी ड्यूक ने हिम्मत नहीं हारी और वो लगातार लुटेरों पर हमलावर होता रहा. इस दौरान ड्यूक के सिर से लगातार खून बह रहा था लेकिन ड्यूक बिना किसी परवाह के लुटेरों के साथ मोर्चा संभाले हुए था.

ड्यूक की हिम्मत के आगे हमलावरों की एक ना चली. आखिरकार लुटेरे जिनो को छोड़कर फरार हो गए. लुटेरों के जाने के बाद ड्यूक बेहोश हो गया. उसके बाद जिनो ने जब ड्यूक की हालत देखी तो उसने समझा कि उसकी मौत हो गई. लेकिन जिनो को ड्यूक की सांस चलती देख अपने दोस्त की मदद से उसे अस्पताल पहुंचाया.

अस्पताल के प्रवक्ता एलेन पैरिन्स के मुताबिक, लुटेरों ने ड्यूक को मारने के इरादे से हमला किया गया था. इसकी हालत बेहद नाजुक थी. इस हालत में उसकी मौत भी हो सकती थी. बेहोशी की हालत में ड्यूक को लाया गया. उन्होंने बताया कि, शुरुआती जांच में लगा कि चाकू उसके दिमाग में लगा है, लेकिन एक्स-रे के बाद पता चला कि चाकू सिर में तीन इंच अंदर तक धंसा गया है. उसके बाद ड्यूक का ऑपरेशन किया गया और चाकू को निकाल दिया गया.

मौत के बाद भी इस संत के बढ़ रहे हैं नाखून और बाल, 550 साल से चल रहा है ये सिलसिला

First published: 23 February 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी