Home » अजब गजब » Dutch prisons are so empty because of no crime no prison and no criminals so its closing jail
 

यहां की सरकार बंद करने जा रही है देश की सभी जेल, वजह जानकर रह जाएंगे दंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 March 2019, 12:11 IST

क्या आप सोच सकते हैं कि किसी देश में अपराध नाम की चीज ही ना हो और वहां की सरकार को जेल बंद करने की नौबत आ जाए. नहीं तो चलिए आज हम आपको ऐसे ही एक देश के बारे में बताने जा रहे हैं. जहां की सभी जेलों को बंद किया जा रहा है. दरअसल, यूरोप के एक देश की सरकार ने देश की सभी जेलों को बंद करने का फैसला लिया है.

क्योंकि इस देश में एक भी अपराधी नहीं बचा है. यानि इस देश में क्राइम रेट बिल्कुल खत्म हो गया है. ये बात सुनकर आपको भले ही अजीब लगे लेकिन बात बिल्कुल सच है. कि नीदरलैंड की सभी जेलें खाली हो गई हैं. यहां अब कोई अपराधी नहीं बचा और जेल खाली पड़ी हैं. इसीलिए सरकार ने देश की सभी जेलों को बंद करने का फैसला लिया है.

जेल बंद होने से कई लोगों को झटका भी लगा है. दरअसल यहां की जेल में करीब 2 हजार लोग काम करते हैं. जेलों के बंद होने से इन लोगों की नौकरी खतरे में पड़ गई है. बता दें कि नीदरलैंड की आबादी करीब 1 करोड़ 71 लाख 32 हजार है. लेेकिन यहां कोई अपराधी नहीं है.

खबरों के मुताबिक , साल 2013 में इस देश में केवल 19 कैदी थे. 2018 में यहां कोई कैदी नहीं रहा. यहां की जेलें सुनसान पड़ी थीं. साल 2016 में टेलीग्राफ यूके में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, नीदरलैंड के न्याय मंत्रालय ने सुझाव दिया था कि अगले पांच सालों में यहां हर साल कुल अपराध में 0.9 प्रतिशत की गिरावट आएगी.

बता दें कि नीदरलैंड को दुनिया का सबसे सुरक्षित देश माना जाता है. जेल के बंद होने से 2 हजार लोगों की नौकरियां खतरे में हैं. लेकिन यहां की सरकार ने 700 लोगों को दूसरे विभाग में तबादले का नोटिस दिया है, वहीं 1300 कर्मचारियों के लिए नौकरी ढूंढी जा रही है.

जानकारी के मुताबिक इस देश में एक इलेक्ट्रॉनिक एंकल मोनिटरिंग सिस्टम है, जो कैदियों को पहनाया जाता है. कैदियों को सीमा के अंदर रहने के निर्देश दिए जाते हैं. जैसे कैदी को घर में बंधक रहना पड़ता है. अगर वो बाहर निकलता है तो उसकी लोकेशन ट्रेस हो जाती है. ये डिवाइस एक रेडियो फ्रीक्वेंसी सिग्नल भेजता है और पुलिस को इसकी सूचना मिल जाती है.

इस सिस्टम से अपराधों में लगातार गिरावट आ रही है. इसीलिए सरकार ने जेल बंद करने का फैसला लिया है. बता दें कि नीदरलैंड में कई जेल बंद हो चुकी हैं. 2016 में एम्स्टर्डम और बिजल्मर्बज की जेल बंद हो चुकी हैं. यहां करीब 1 हजार शरणार्थियों को रखा गया है. जिनके लिए स्किल डेवलपमेंट सेंटर खोला गया है.

पहली बार फ्लाइट से सफर कर रहा था चार माह का बच्चा, मां ने की कुछ ऐसी अपील कि वायरल हो रहा मैसेज

First published: 5 March 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी