Home » अजब गजब » Easter Island: know the secret of Moai sculpture on Easter island
 

Easter Island: ईस्टर आइलैंड की मूर्तियों में दफन है कई राज, एलियंस से भी रहा है संबंध!

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 September 2021, 11:58 IST

हमारी पृथ्वी पर ऐसी तमाम चीजें मौजूद हैं जो रहस्यमयी हैं और इनके रहस्य को आजतक कोई नहीं जान पाया. ऐसे ही एक रहस्य के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं. जो सैकड़ों साल से रहस्य ही बना हुआ है दुनियाभर के तमाम वैज्ञानिक भी इन रहस्यों से पर्दा नहीं उठा पाए. दरअसल, हम बात कर रहे हैं प्रशांत महासागर में स्थित ईस्टर आइलैंड की. जहां सैकड़ों की संख्या में माओ मूर्तियां स्थापित है जिनके रहस्य को आज तक कोई नहीं जान पाया है. इन मूर्तियों के बारे में किसी को कुछ नहीं पता कि इनका निर्माण कब और किसने किया.

तमाम विशेषज्ञों ने इन मूर्तियों को लेकर अलग-अलग थ्योरी दी हैं. लेकिन इनका कोई निष्कर्ष नहीं निकला. इस वीरान टापू पर कई ऐसी मूर्तियां देखने को मिलेंगी, जिनकी ऊंचाई करीब 7 मीटर है. पुराने समय में इतनी ऊंची और भारी मूर्तियों को बनाना उस वक्त के लोगों के लिए लगभग नामुमकिन था. इन्हीं सवालों का पता लगाने के लिए रिसर्चर्स इस वीरान टापू पर लंबे समय से मूर्तियों का अध्ययन कर रहे हैं.


बता दें कि ईस्टर आइलैंड की सबसे बड़ी मूर्ति की ऊंचाई करीब 33 फीट है और उसका वजन करीब 75 टन के बराबर है. ये मूर्तियां करीब 1200 साल पुरानी हैं. बताया जाता है कि इस वीरान टापू पर लंबे समय पहले रापा नुई लोग रहा करते थे. कुछ लोगों का मानना है कि इन विशालकाय मूर्तियों को उन्हीं रापा नुई लोगों ने बनाया था. हालांकि पुरानी मानव सभ्यता के लिए इन मूर्तियों को बनाना बड़ा मुश्किल काम था. बता दें कि इस टापू की खोज साल 1722 में डच एडमिरल याकूब रोगेवीन ने की थी. उस दौरान जब वे अपने तीन जहाजों के साथ इस टापू के नजदीक पहुंचे तो उनके दल को दूर से बहुत सारी ऊंची-ऊंची इंसानी आकृति दिखाई पड़ी. रोगेवीन और उनका दल जब जहाज से उतरकर टापू पर पहुंचा, तो उन्हें पत्थरों से बनी कई विशाल मूर्तियां देखने को मिलीं.

इन मूर्तियों के बारे में कहा जाता है कि इन्हें किसी इंसान ने नहीं बल्कि एलियंस ने बनाया था. उनके मुताबिक प्राचीन समय के लोगों के लिए इतने कठिन काम को करना लगभग नामुमकिन था. उस समय के लोगों के पास ऐसे कोई साधन नहीं थे, जो इतने भारी भरकम पत्थरों को इधर से उधर ले जा सकें. लेकिन हाल ही में इन मूर्तियों के रहस्य से पर्दा उठा है. इससे पता चला कि इन मूर्तियों को किसी परग्रही लोगों ने नहीं बल्कि ईस्टर आईलैंड के प्राचीन आदिवासियों ने बनाया था.

गुस्साए हाथी ने कर दिया भैंस पर हमला, वीडियो में देखें कैसे ली पटक-पटक कर जान

बता दें कि कुछ समय पहले यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर के एक डॉक्टर ईस्टर आइलैंड की एक ज्वालामुखी के पास पहुंचे, तो उन्हें वहां पर अंदर छुपी कई खदानें मिलीं. डॉक्टर ने वहां पर मूर्ति को बनाने के कई अवशेषों को भी ढूंढ निकाला, जिनमें डलवा धातु की एक 7 इंच लंबी कुल्हाड़ी भी शामिल थी. तब पता चला कि इन्हें प्राचीन समय में वहां के मूल निवासियों ने बनाया था. उन्हें वह अपने धार्मिक अनुष्ठानों में इस्तेमाल किया करते थे.

झील किनारे आराम कर रहा था मगरमच्छ तभी कर दिया तेंदुआ ने हमला, वीडियो में देखें फिर हुआ क्या

First published: 15 September 2021, 11:58 IST
 
अगली कहानी