Home » अजब गजब » Egyptian Mummy Speaks Again After Three Thousand Years
 

जब 3,000 साल बाद बोलने लगी थी मिस्र की ये ममी, हैरान कर देगी वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 January 2020, 12:03 IST

Egyptian mummy speaks after 3,000 years : मिस्र (Egypt) के पिरामिड (Pyramid) दुनियाभर में मशहूर हैं. इन पिरामिडों में हजारों सालों से ममी (Mummy) दफन हैं. हर ममी की अपनी अलग-अलग विशेषताएं हैं आज हम आपको एक ऐसी ममी के बारे में बताने जा रहे हैं जो 3,000 साल बाद बोलने लगी थी. ये बात सुनकर आपके यकीन नहीं होगा, लेकिन बात बिल्कुल सच है. ये मनी उसी तरह से बोलने लगी थी जैसे वह तीन हजार साल पहले बोलती थी.

बता दें कि नेस्यामूं नाम की ये ममी 3,000 साल पहले मिस्र के एक प्राचीन शहर में नेस्यामूं नाम के एक पुजारी की थी. उस पुजारी की मौत के बाद मिस्र के प्राचीन (Ancient) लोगों ने अपनी परंपरा के पालन के मुताबिक, पुजारी (Priest) के शव के ममी के रूप में संरक्षित (Protected) कर दफना दिया. 18वीं शताब्दी (18th Century) में नेस्यामूं (Priest Nesyamun) की ममी को पिरामिड से निकालकर लंदन (London) में लीड्स सिटी म्यूजियम (Leeds City Museum) ले आया गया.

दरअसल, हजारों साल पिरामिड में दफन रहने के बाद भी के दौरान नेस्यामूं की ममी की जीभ और तालू पूरी तरह से सड़ गए. लेकिन उसके कंठ में मौजूद स्वर-तंत्र के उत्तक किसी तरह से सुरक्षित रह गए. जब वैज्ञानिकों को इस बात का पता चला तो नेस्यामूं को दोबारा आवाज देने का फैसला किया गया. वैज्ञानिक रिपोर्ट्स के मुताबिक ब्रिटेन की एक प्रयोगशाला में वैज्ञानिकों ने 3-डी प्रिटिंग की तकनीक, कंप्यूटर और लाउडस्पीकर की मदद से 3000 साल पहले मर चुके पुजारी नेस्यामूं की आवाज को दोबारा सुनने में कामयाबी पाई.

नेस्यामूं की आवाज को दोबारा सुनने के लिए वैज्ञानिकों ने सीटी स्कैन और 3-डी तकनीक की मदद ली. उसके बाद ममी के स्वर-तंत्र का मॉडल तैयार किया गया. इस 3-डी मॉडल को एक लाउडस्पीकर से जोड़ दिया गया. बाद में  इस मॉडल से एक वैज्ञानिक उपकरण की मदद से ध्वनि तरंगों को गुजारा गया. ममी के स्वर-तंत्र के मॉडल से जब वो ध्वनि तरंग गुजरी तो उससे इंसान के बोलने जैसी एक आवाज निकली.

बाद में वैज्ञानिकों ने बताया कि 3D मॉडल से वैसी ही आवाज पैदा हुई जैसे 3,000 साल पहले उस ममी के स्वामी पुजारी नेस्यामूं की थी. बता दें कि ये आवाज बहुत साफ नहीं थी. 3-डी मॉडल से निकली आवाज 'ईईई....' की थी. नेस्यामूं की ममी के स्वर-तंत्र के मॉडल ने सिर्फ 'ईईई....' की आवाज निकाली. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि नेस्यामूं की ममी में जीभ गायब थी. अगर जीभ भी होती तो वैज्ञानिक 3-डी मॉडल में उसकी भी नकल तैयार कर लेते. उसके बाद नेसयामूं की आवाज हूबहू वैसी ही निकलती जैसी कि उनकी अपनी आवाज थी.

घर वाले जबरन करा रहे थे किसी और से शादी, पुलिस ने थाने में कराया प्रेमी युगल का शुभ-विवाह

कभी दुनिया का सबसे मोटा बच्चा था ये लड़का, चार साल में कम किया 108 किलो वजन

CAA Protest : केरल के युवक ने दुबई में मांगी नौकरी, कंपनी की ओर से मिला जवाब- शाहीन बाग जाओ

First published: 27 January 2020, 16:10 IST
 
अगली कहानी