Home » अजब गजब » Female Scientist Deasy Tuwo Eaten Alive By 17ft Long Crocodile Merry In Indonesia
 

17 फुट लंबे मगरमच्छ को खाना खिला रही थी महिला, खुद बन गई शिकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2019, 14:21 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

जानवर आखिर जानवर होते हैं. वो कब अपने असली रूप में आ जाएं कोई नहीं जानता. ऐसा ही कुछ हुआ इंडोनेशिया में एक महिला के साथ. जब वो 17 फुट लंबे एक मगरमच्छ को खाना खिला रही थी. खाना खिलाते खिलाते मगरमच्छ ने उस पर हमला कर दिया और उसे जिंदा निगल गया. दूसरे दिन मगरमच्छ के मुंह में महिला का एक हिस्सा मिला. तब कही जाकर महिला के बारे में पता चला.

बता दें कि ये महिला पेशे से एक वैज्ञानिक थी और वो इंडोनेशियन रिसर्च फैसिलिटी में काम करती थी. 44 साल की डेजी तुवा लैब में एक बड़े मगरमच्छ को खाना खिलाने गई थीं, लेकिन उसके बाद उसका कोई पता नहीं चला. दूसरे दिन सुबह जब रिसर्च फैसिलिटी के कर्मचारी ने मगरमच्छ को देखा तो वो हैरान रह गया. क्योंकि महिला वैज्ञानिक के शरीर का एक हिस्सा उसके मुंह में था, जबकि शरीर के बाकी हिस्से पानी में तैर रहे थे.

उसके बाद वाइल्ड लाइफ रेस्क्यू टीम और पुलिस को मौके पर बुलाया गया. रेस्क्यू टीम ने बड़ी मुश्किल से मगरमच्छ को पूल से बाहर निकाला और उसके पेट का मेडिकल टेस्ट किया. जिसमें इस बात की पुष्टि हुई कि मगरमच्छ ने ही महिला वैज्ञानिक को अपना शिकार बनाया.

बताया जा रहा था कि जिस पूल में मगरमच्छ था उसकी दीवार 8 फुट ऊंची थी. बावजूद इसके मगरमच्छ ने महिला को कैसे शिकार बनाया. ये बात किसी को भी हैरान कर सकती है. हालांकि रिसर्च सेंटर के अधिकारियों का कहना है कि मगरमच्छ ने उतनी ऊंची दीवार तक छलांग लगाकर महिला को अपना निवाला बनाया होगा. लेकिन अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि उसने महिला को पूल में कैसे गिराया, या फिर वो खुद ही पूल में गिर गई.

बताया जा रहा है कि ये मगरमच्छ पहले भी दूसरे मगरमच्छों पर हमला कर चुका है, लेकिन किसी इंसान पर हमला करने का ये पहला मामला है. बता दें कि महिला वैज्ञानिक का शव काफी खराब हालत में पूल से निकाला गया.

हालांकि पुलिस ने इस मामले में जांच शुरु कर दी है और रिसर्च सेंटर के मालिक की तलाश कर रही है. जो कि जापान का एक बिजनेसमैन है. इसके साथ ही इस बात का भी पता लगाया जाएगा कि उसने मगरमच्छ को इस तरह से रखने की इजाजत ली थी या नहीं.

ये भी पढ़ें- कीड़ों ने किया अजगर पर हमला तो जान बचाने के लिए किया ये काम

First published: 16 January 2019, 14:10 IST
 
अगली कहानी