Home » अजब गजब » Frozen Bird found in Siberia Turns Out To Be 46,000-Year-Old Horned Lark
 

यहां मिले 46,000 साल पुराने पक्षी के अवशेष, देखकर वैज्ञानिक भी हो गए हैरान

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2020, 14:16 IST

Frozen Bird found in Siberia: वैज्ञानिकों के एक दल (Group of Scientist) को साइबेरिया (Siberia) में हॉन्ड लार्क (Horned Lark) पक्षी के अवशेष मिले हैं ये अवशेष 46,000 साल पुराने बताए जा रहे हैं. हॉन्ड लार्क के ये अवशेष जमी हुई मिट्टी (Soil) के नीचे से मिले हैं. वैज्ञानिकों (Scientist) का कहना है कि इस अध्ययन (Study) से इस बात का पता करने में मदद मिलेगी अंतिम हिम युग के अंत में क्षेत्र में किस तरह बदलाव आए होंगे. जब पृथ्वी (Earth) का ज्यादातर हिस्सा बर्फ (Snow) से ढका रहा होगा.

कम्यूनिकेशन बायोलॉजी जर्नल (Communication Biology Journal) में प्रकाशित इस अध्ययन में बताया गया है कि अंतिम हिम युग के दौरान उत्तरी यूरोप और एशिया तक फैला यह विशाल मैदानी क्षेत्र अब विलुप्त हो चुकीं वूली मैमथ और वूली राइनोसरस जैसी प्रजातियों का निवास स्थान रहा होगा.

शोधकर्ताओं का कहना है कि, आनुवांशिक विश्लेषण से पता चलता है कि यह पक्षी उस आबादी से संबंधित हैं जो आज मिलने वाली हॉ‌र्न्ड लार्क की दो उप-प्रजातियों की संयुक्त पूर्वज थीं. इन दोनों उप-प्रजातियों में से एक साइबेरिया और दूसरी मंगोलिया के विशाल मैदानों में मिलती है. वैज्ञानिकों ने बताया कि इस जानकारी से यह समझने में मदद मिलेगी कि इस पक्षी की उप-प्रजातियां कैसे विकसित हुईं होगी.

जानकारों का कहना है कि साइबेरिया बेहद ठंडा इलाका है. जहां सालभर तापमान माइनस में रहता है. इसी के चलते इतने सालों तक इस पक्षी के शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचा. एक्सपर्ट डेलेन का कहना है कि यह पक्षी वर्तमान में पाए जाने वाले लार्क पक्षियों का पूर्वज है. इसकी एक प्रजाति उत्तरी रूस और दूसरी मंगोलिया में पाई जाती है. इस खोज से ये निष्कर्ष निकलता है कि हिमयुग के आखिर में होने वाले जलवायु परिवर्तन के कारण पक्षियों की नई उप-प्रजातियां बन गई होंगी.

ये है पृथ्वी का सबसे खूबसूरत स्थान, जहां जिंदा नहीं रह सकता इंसान

सोनभद्र ही नहीं बिहार में इस जगह छिपा है लाखों टन सोना लेकिन इस तक पहुंचना है नामुमकिन

प्रेमी को चारपाई से बांध पहले बनाए थे शारीरिक संबंध, इसके बाद आग लगा जला दिया था जिंदा

First published: 23 February 2020, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी