Home » अजब गजब » Georgian Man Found Lost Wallet After 77 Years Ago During Second World War
 

77 साल पहले द्वितीय विश्व युद्ध में खो गया था इस शख्स का बटुआ, ऐसे मिला वापस

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 August 2018, 11:52 IST

अगर किसी को अपनी खोई हुई चीज वापस मिल जाए तो बहुत खुशी होती है, वहीं अगर कोई शख्स कई दशक बाद अपनी खोई चीज को वापस पा लेता है तो खुशी कितनी ज्यादा होती होगी. ऐसा ही कुछ हुआ अमेरिका के जॉर्जिया में रहने वाले एक शख्स के साथ. जब 77 साल बाद उसका खोया हुआ बटुआ वापस मिल गया.

अमेरिका के ज्योर्जिया में रहने वाले रॉय रोट्स को उनका खोया हुआ बटुआ वापस मिल गया. उनका ये बटुआ कुछ दिन या कुछ महीने बाद उन्हें वापस नहीं मिला, बल्कि पूरे 77 साल बाद उन्हें ये बटुआ मिला. जो द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान खो गया था. यही नहीं बटुआ में रखे जरूरी कागजात भी उन्हें सुरक्षित मिल गए. जो वॉलेट के साथ गुम हो गए थे.


बता दें कि रॉय रोट्स अब 100 साल के हो चुके हैं. मगर जिस दिन उनका वॉलेट खोया, उस दिन से जुड़ी हर बात उनके मन में इतनी ताजा है, मानो कल की ही बात हो. रोट्स ने बताया, "मैं इलेक्ट्रिकल इंस्पेक्टर था और मेरा काम हवाई जहाज की जांच करना था. उस दिन मैं कैलिफोर्निया में था. दूसरा विश्व युद्ध छिड़ा था. हम सब एक हवाई जहाज पर सवार थे. तभी मुझे ख्याल आया कि मेरे पास मेरा बटुआ नहीं है. मैंने प्लेन पर सवार हर एक शख्स की तलाशी ली, मगर वह कही नहीं मिला."

'फॉक्स 5' की खबर के मुताबिक, रॉय रोट्स की जेब से फिसला वॉलेट एडगर वॉरेन बर्ड्स को मिला. दिलचस्प बात यह है कि एक अमेरिकी नागरिक की वॉलेट यूरोपीय शख्स के हाथ लगा था. ये बात किसी करिश्मा से कम नहीं थी. क्योंकि जिस वक्त बर्ड्स को रोट्स का बटुआ मिला, वह इंग्लैंड के डर्बीशायर स्थित रॉयल एयरफोर्स में कार्यरत थे.

इस वॉलेट में रोट्स का ड्राइविंग लाइसेंस भी था. इसलिए वॉरेन बर्ड्स के लिए उनका बटुआ लौटाना मुश्किल काम नहीं था. वह लाइसेंस में लिखे नाम और पते पर उस वॉलेट को भेज सकते थे. मगर उन्होंने ऐसा नहीं किया. ऐसा भी नहीं था कि उन्होंने किसी गलत इरादे से रोट्स का बटुआ अपने पास रख लिया हो. क्योंकि अगर ऐसा होता तो वह बरसों तक उस बटुए को संभाल कर नहीं रखते, पैसे निकालकर उसे फेंक सकते थे. 

एडगर वॉरेन बर्ड्स ने ना सिर्फ उस वॉलेट को हिफाजत से रखा बल्कि अपनी अगली दो पीढ़ियों तक उसे आगे भी बढ़ाया. वॉरेन ने वह बटुआ अपने बेटे को दिया और उनके बेटे ने वह बटुआ उनकी पोती को. वॉरेन अब इस दुनिया में नहीं हैं. उनकी पोती ने ही रोट्स को उनका बटुआ लौटाया. हालांकि, बर्ड्स ने वह बटुआ खुद क्यों नहीं लौटाया और उसे सहेजकर रखने के पीछे उनका इरादा क्या था यह बस अब राज बनकर रह गया है.

ये भी पढ़ें- पति की मौत के तीन साल बाद उसी के स्पर्म से मां बनी महिला.. जानिए कैसे हुआ ये अचंभा

First published: 26 August 2018, 11:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी