Home » अजब गजब » Himachal Pradesh Girl Kalpana Thakur Tied Rakhi to tree
 

पेड़ों को अपना भाई मानती है ये लड़की, हर साल बांधती है राखी, जानिए क्या है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 March 2019, 15:18 IST

हमारी पृथ्वी को हरा-भरा रखने और प्रदूषण से मुक्ति दिलाने के लिए पेड़ पौधे अहम भूमिका निभाते हैं. ऐसे में अगर पेड़ों को तेजी से काटा जाए तो हरियाली ही खत्म नहीं होगी. बल्कि प्रदूषण भी बढ़ जाएगा.पर्यावरण की रक्षा और पेड़-पौधों के काटने से बचाने के लिए तमाम मुहिम चलाई जाती है. लेकिन हिमाचल प्रदेश की रहने वाली एक लड़की ने तो पेड़ों को बचाने के लिए कुछ अनोखा ही तरीका अपनाया. इस लड़की ने पेड़-पौधों को भाई मानना शुरु कर दिया. यही नहीं ये लड़की हर साल राखी के मौके पर पेड़-पौधों को अपने भाई के समान राखी बांधती है.

दरअसल, हिमाचल के लाहौल की नन्ही पर्यावरणविद कल्पना ठाकुर ने बचपन से ही पेड़ों को अपना भाई बना लिया है. कल्पना हर साल रक्षाबंधन पर न सिर्फ पेड़ों को राखी बांधती हैं, बल्कि उनकी देखभाल भी करती हैं. 14 साल की कल्पना लाहौल-स्पीति के मूलिंग में रहती हैं. उनके द्वारा रोपे गए पौधे अब वृक्ष का आकार लेने लगे हैं.

यही नहीं कल्पना ने 18,000 फुट ऊंची मूलिंग पीक, 18,870 फीट ऊंची खारदुंगला पीक को फतह कर पर्यावरण और बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया है. कल्पना की इस मुहिम की हर ओर सराहना हो रही है. इसी के लिए कल्पना ठाकुर को राष्ट्रीय एकात्मकता पुरस्कार भी मिल चुका है.

कल्पना रक्षाबंधन के मौके पर पेड़ों को राखी बांध पर्यावरण बचाने का संदेश देती हैं. कल्पना को हिमोत्कर्ष साहित्य संस्कृति एवं जनकल्याण परिषद की ओर से भी पर्यावरण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर यह पुरस्कार दिया गया है. बता दें कि कल्पना ठाकुर के पिता को भी ग्रीन मैन के अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है.

यहां की सरकार बंद करने जा रही है देश की सभी जेल, वजह जानकर रह जाएंगे दंग

 

First published: 5 March 2019, 15:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी