Home » अजब गजब » How To Chameleon Change It’s Color Know The Secret
 

जानिए कब, क्यों और कैसे रंग बदलता है गिरगिट, हैरान कर देने वाली है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 October 2018, 10:00 IST

गिरगिट के रंग बदलने वाली कहावत तो आपने सुनी होगी. लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि आखिर गिरगिट कब और कैसे रंग बदलता है. तो चलिए आज हम आपको गिरगिट के रंग बदलने के बारे में बताएंगे. गिरगिट छिपकली की जाति का ही एक जीव है जिसके अंदर अपनी त्वचा का रंग बदल लेने की क्षमता होती है.

ये भी पढ़ें- दिन-रात फोन पर लगी रहती थी ये महिला, हाथों का हुआ ऐसा हाल

National Geographic

आप जानते हैं कि गिरगिट की तरह रंग बदलने की कहावत का अर्थ बात-बात पर रंग बदलना है. इसी से ये अर्थ निकलता है कि गिरगिट परिस्थियों के मुताबि अपना रंग बदलता है. यानि गिरगिट को जब महसूस होता है कि उसकी सुरक्षा खतरे में है तो वह रंग बदल लेता है.

ये भी पढ़ें- अकेलापन दूर करने के लिए पुलिस को कॉल कर ऐसी बातें करता था ये शख्स, पांच साल की हो गई सजा

क्योंकि शिकारियों से बचने के लिए वो उन्हें चकमा देकर भागने की कोशिश करता है इसीलिए गिरगिट अपना रंग बदल लेता हैबता दें कि गिरगिट खुद को उसी रंग में बदलता है जहां वो बैठा होता है. यही नहीं खुद को शिकारियों से बचाने के अलावा भी वो उस वक्त रंग बदलता है जब उसे शिकार करना होता है. क्योंकि ऐसा करने से वो अपने शिकार को आसानी से पकड़ लेता है.

ये भी पढ़ें- सैंडविच बैग ने बचाई नवजात की जान, करिश्मा देखकर डॉक्टर भी रह गए हैरान

गिरगिट की त्वचा में एक अजीब तरह की रंजक कोशिकाएं पाई जाती हैं जो शरीर के तापमान के घटने और बढ़ने पर सिकुड़ जाती है और कभी फैल जाती हैं. शरीर में जब हार्मोन्स स्त्रावित होते हैं तब ये कोशिकाएं काफी तेजी से उत्तेजित होती हैं और रंग बदलने लगती हैं. जिनमे पीली, गहरी भूरी, काले और सफेद रंग शामिल होते हैं. ताप कम होने पर गिरगिट की त्वचा का रंग गहरा होता है और ताप बढ़ने पर हल्का हो जाता है.

ये भी पढ़ें- रहस्यमय तरीके से हुई प्रेग्नेंट महिला की मौत, सच्चाई जानकर दंग रह गए लोग

First published: 25 October 2018, 9:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी