Home » अजब गजब » IDBI Bank Spent 85 Rupees To Send A Notice To Recover For One Rupees In Ghaziabad
 

एक रुपये की वसूली के लिए बैंक ने इतने रुपये कर दिए खर्च, ग्राहक को भेजा नोटिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 October 2018, 14:56 IST

बैंक से लोन लेने के बाद वापस ना करने वालों को बैंक वसूली नोटिस भेजते हैं. जिससे ग्राहक बैंक का पैसा वापस लौटा दे. आईडीबीआई बैंक ने भी कुछ ऐसा ही किया, जब उसने वसूली के लिए एक ग्राहक को नोटिस भेज दिया. इस नोटिस की खास बात ये थी कि इसे भेजने के लिए बैंक को 85 रुपये खर्च करने पड़े. इससे भी अनोखी बात ये भी कि जिस वसूली नोटिस को भेजा गया था वो सिर्फ एक रुपये की वसूली का नोटिस था.

बता दें कि बैंक ने एक रुपये वसूली का ये नोटिस कोरियर के जरिए ग्राहक को भेजा था. जिसके जरिए केवल एक रुपये की वसूली की जानी थी. बैंक ने ये नोटिस गाजियाबाद के एक ग्राहक को भेजा था जो 5 अक्टूबर को भेजा गया था. इसमें कहा गया था कि 1 अक्टूबर 2018 को आपके लोन अकाउंट के सब अकाउंट में 1 रुपए का बकाया है. बैंक ने कोरियर के जरिए भेजे गए नोटिस में भुगतान आरटीजीएस, एनईएफटी या चेक के माध्यम से करने को कहा गया है,

साथ ही कहा है कि भुगतान न होने की दशा में खाता ओवरड्यू ही रहेगा. जबकि लोन लेने वाले शक्स ने कहा, हर महीने किस्त जाने के बावजूद यह बाकी कैसे रह गया। अब ग्राहक परेशान है कि 1 रुपए का भुगतान कैसे करे. ग्राहक का कहना है कि अगर बैंक की तरह कोरियर से भेजता हूं तो 85 रुपए लगेंगे. साधारण डाक से भेजने पर भी 5 रुपए का खर्च आता है. स्पीड पोस्ट करने में भी 15 रुपए जाएंगे.

यदि बैंक की बात मान आरटीजीएस, एनईएफटी के माध्यम से भुगतान कर हूं तो भी 2.5 रुपए खर्च हो ही जाएंगे रिजर्व बैंक के पूर्व निदेशक विपिन मलिक ने कहा, बैंक की ये मजबूरी होती है कि वो किसी भी अकाउंट या उसके सब अकाउंट में कोई भी रकम बकाया न छोड़े. जब तक पूरी रकम वसूल न हो जाए वो अकाउंट बैंक के ऊपर भार रहता है. ऐसे में सरकार को ऐसा विकल्प देना चाहिए कि 100 रुपये से कम के बकाया बैंक के अधिकार क्षेत्र में रहे और वह उसे खत्म कर सके.

ये भी पढ़ें- अकेलेपन की वजह से इस शख्स ने पाला था कुत्ता, जब सच्चाई पता चली तो रह गया दंग

First published: 17 October 2018, 14:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी