Home » अजब गजब » India's most qualified person Shrikant Jichkar who has achieved 20 degrees from various universities
 

ये है भारत का सबसे पढ़ा लिखा इंसान, डिग्रियां इतनी कि गिन-गिन के थक जाओगे आप!

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2020, 14:29 IST

Shrikant Jichkar: कुछ बच्चे स्कूल (School) का नाम सुनते ही रोने लगते हैं, उनका पढ़ने लिखने का मन नहीं करता. लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं जो पढ़ने के नाम पर इतने खुश हो जाते हैं कि तमाम डिग्रियां हासिल करने के बाद भी उनका दिल नहीं भरता और वो आगे भी अपनी पढ़ाई जारी रखते हैं. आज हम भारत के एक ऐसे ही इंसान के बारे में बताने जा रहे हैं जो देश के सबसे पढ़े-लिखे इंसान माने जाते हैं. उन्होंने दुनिया की तमाम यूनिवर्सिटीज से 20 डिग्रियां हासिल की. ऐसा माना जाता है कि भारत में उनसे ज्यादा पढ़ा लिखा और कोई नहीं हुआ.

दरअसल, भारत में सबसे ज्यादा पढ़े लिखे शख्स का रिकॉर्ड श्रीकांत जिचकर (Shrikant Jichkar) के नाम है. श्रीकांत जिचकर का जन्म 14 सितंबर 1954 को महाराष्ट्र के नागपुर में हुआ था. वह एक राजनेता भी थे. उन्होंने अपनी राजनीति की शुरुआत यूनिवर्सिटी स्टूडेंट काउंसिल से की थी और 25 साल की उम्र में ही विधानसभा चुनाव जीतकर विधायक बन गए थे. बाद में उन्हें मंत्री भी बनाया गया. यही नहीं बाद में उन्होंने लोकसभा लड़ा और जीतकर संसद भी पहुंचे.


भेड़ के साथ मस्ती करना इस शख्स को पड़ा भारी, वीडियो में देखे कैसे सिखाया सबक

बताया जाता है कि उन्होंने 42 विश्वविद्यालयों में पढ़ाई की थी और 20 डिग्रियां हासिल की थी. एक रिपोर्ट के मुताबिक, उनमें से ज्यादातर डिग्रियां फर्स्ट क्लास (First Division) की थीं या उन्होंने उनमें गोल्ड मेडल हासिल किया था. उनके पास एमबीबीएस से लेकर एलएलबी (), एमबीए और जर्नलिज्म (Journalism) तक की डिग्री थी. उन्होंने पीएचडी भी की थी. इसके अलावा उन्होंने अलग-अलग विषयों में कई बार एमए (MA) किया था.

Video: भालू का बच्चा सुबह-सुबह करने लगा घर में घुसने की जिद्द, फिर उसकी मां ने उठाया ये कदम, वीडियो है वायरल

खाली बोतल लेकर सैनिटाइजर चुराने पहुंचा युवक, CCTV पर पड़ी नजर तो किया ये काम

श्रीकांत जिचकर ने देश की सबसे कठिन मानी जाने वाली यूपीएससी परीक्षा भी पास की थी. उसके बाद वह आईपीएस अधिकारी भी बने थे. हालांकि उन्होंने जल्द ही त्यागपत्र दे दिया था. आईपीएस के अलावा दोबारा यूपीएससी की परीक्षा देकर वह आईएएस भी बने थे, लेकिन चार महीने नौकरी करने के बाद उन्होंने उस पद से भी त्यागपत्र दे दिया था और राजनीति में आ गए. कहा जाता है कि श्रीकांत को पढ़ाई करने का इतना शौक था कि उन्होंने अपने घर में एक बड़ी सी लाइब्रेरी बना ली थी, जिसमें 50 हजार से भी अधिक किताबें थीं.

जब रूस में हुआ खतरनाक 'एक्सपेरिमेंट', लोग खाने लगे थे अपने शरीर का मांस

दुबई के राजकुमार की कार में चिड़िया ने दिए अंडे, वीडियो में देखे उसके बाद हुआ क्या

पढ़ाई के अलावा उन्हें पेंटिंग, फोटोग्राफी और एक्टिंग का भी शौक था. इसके अलावा उन्हें अलग-अलग जगहों पर घूमने का भी शौक था. कहते हैं कि ऐसा कोई विषय नहीं था, जिसपर वो किसी से चर्चा नहीं कर सकते थे. लगभग हर विषय में वो पारंगत थे. केवल 50 साल की उम्र में एक सड़क दुर्घटना में उनकी मौत हो गई. लेकिन अपनी डिग्रियों की बदौलत वह आज भी वह सबसे शिक्षित भारतीय का रिकॉर्ड अपने नाम रखते हैं.

पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस पर वेबसाइट हैक कर लिखा- राम लला हम आएंगे, कराची में मंदिर बनाएंगे

First published: 16 August 2020, 14:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी