Home » अजब गजब » janjgir husband reached court with 100 kg of coins to give his wife
 

पत्नी को खर्चा देने के लिए बोरियों में 100 किलो सिक्के भरकर कोर्ट पहुंचा पति, फिर जज ने दे दी ये अनोखी सजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2019, 15:10 IST

छत्तीसगढ़ के कुंटुंब कोर्ट में एक पति अपनी पत्नी को गुजारा भत्ता देने के लिए सिक्कों से भरी पांच बोरियां लेकर कोर्ट पहुंचा. इन बोरियों में एक में भी नोट नहीं था. आश्चर्य की बात ये है कि इन बोरियों के सिक्के को तौले, तो यह करीब 100 किलो है.

कोर्ट में इस तरह की हरकत छत्तीसगढ़ के पामगढ़ थाना क्षेत्र के रहने वाले पुनीराम साहू ने की. पुनीराम को अपनी इस हरकत का खामियाजा भी भुगतना पड़ा. कोर्ट ने पुनीराम को इन सिक्कों को सभी के सामने गिनकर देने के लिए कहा.

बताया जा रहा है कि पुनीराम की शादी यशोधरा नाम की युवती के साथ हुई थी. इनकी चार बेटियां हैं, जिसमें से तीन बेटियों की शादी हो गई है. पुनीराम और यशोधरा के बीच अक्सर शादी के बाद लड़ाईयां होती थी, इसलिए वे करीब 20 सालों से अलग रहते थे.

अलग होने के बाद उनका केस परिवार परामर्श केंद्र पहुंचा. परामर्श केंद्र में उनकी समस्याओं का समाधान ना होने के कारण केस कुटुंब अदालत पहुंचा, जहां से पुनीराम को हर महीने गुजारा भत्ता के रूप में 3700 रुपए देने का आदेश दिया गया.

पुनीराम लगातार 20 सालों से पैसे भेज रहा था, लेकिन पिछले 8 महीने से वह पैसे नहीं भेज सका, जिससे बदले कुटुंब कोर्ट ने पुनीराम को 33 हजार 8 सौ रुपए पत्नी को देने के लिए कहा. पुनीराम वही पैसे पत्नी को देने के लिए कोर्ट में पांच बोरियों में 1, 2, 5 और 10 के सिक्कों को भरकर ले गया.

जज के सामने जब उसने सिक्कों की बोरियां रखी, तो जज ने उसे सिक्के गिनने के लिए कहा. कोर्ट में जज ने कहा सारे सिक्के गिनकर वह इन बोरियों को अपनी पत्नी के घर पहुंचा दे. वहीं, पुनीराम साहू से इन सिक्कों के बारे में पूछा गया, तो उसने कहा कि मैं एक किसान हूं और सब्जियां बेचकर गुल्लक में पैसे जमा करता हूं.

कोर्ट के सामने पति ने रखी अनोखी शर्त, पत्नी को पैसों की जगह दूंगा 20Kg चावल, 5Kg देसी घी, 15 Kg अनाज...

First published: 20 July 2019, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी