Home » अजब गजब » Japan bullet train time managment system shinkasen culture for discipline
 

यहां 60 सेकंड से ज्यादा ट्रेन नहीं होती लेट, वरना भुगतनी पड़ती है ये सजा, जल्दी आने पर भी करना होता है ये काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 May 2019, 17:32 IST

हमारे देश में ट्रेन का 1 घंटा लेट होना लेट नहीं माना जाता. कभी-कभी तो आलम ये होता है कि यहां ट्रेन 24 घंटे से भी अधिक हो हो जाती हैं. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां अगर ट्रेन 60 सेकंड से ज्यादा लेट हुई तो उन्हें सभी यात्रियों से माफी मांगनी पड़ती है. इस देश का नाम है जापान, यहां ट्रेन लेट होना ही नहीं, बल्कि सभी काम में समय को लेकर बहुत ही पांबदी रखी गई है.

जापान में शिंकासेन नाम का एक बुलेट ट्रेन है. ये ट्रेन हर एक तीन मिनट के अंतराल पर एक बुलेट ट्रेन चलती है. इस ट्रेन की सबसे खास बात तो ये है कि यहां ट्रेन की गति काफी तेज होने के बावजूद आज तक कोई दुर्घटना नहीं हुई.

मात्र 77 रुपये में खरीदें इस खूबसूरत शहर में घर, बस करना होगा ये काम

इस बात से पूरी दुनिया वाकिफ है कि जापान की ट्रेंने आधुनिक तकनीक से भरपूर है. यहां की ट्रेनों में आधुनिक सेंसर लगे होते हैं, जो किसी भी प्राकृतिक आपदा का पता लगाते हैं और अगर इन्हें किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा होने की आशंका होती है, तो ये खुद-ब-खुद ट्रेन रोक देते हैं.

समय की पाबंदी को लेकर जापान की शिंकानसेन बुलेट ट्रेन दुनियाभर में सबसे ज्यादा मशहूर है. समय को लेकर यहां इतनी ज्यादा पाबंदी है कि अगर कोई भी ट्रेन एक मिनट के लिए लेट हो जाए, तो यहां के अधिकारी हर एक पैसेंजर से एक-एक करके माफी मांगते हैं.

टूटे दिलों को इस म्यूजियम में जाकर मिलता है सुकून, संजोकर रखी गई हैं पुरानी यादें

इतना ही नहीं जापान में रेलवे विभाग अपने यात्रियों के लिए लेट नोट्स भी जारी करता है, ताकि जो लोग अपने जॉब पर जाते हैं और वे ट्रेन के लेट होने की वजह से ऑफिस के लिए लेट हुए, तो वे अपने ऑफिस में इसे दिखाकर बता सकें. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एक बार यहां एक बार ट्रेन 20 सेकंड जल्दी पहुंच गई थी, इसलिए भी इन्होंने अपने यात्रियों से माफी मांगी थी.

जब बेल से वापस लौटा जेल, पेट में छुपा कर ले गया 3 मोबाइल, चार्जर और स्मैक की 10 पुड़िया

First published: 14 May 2019, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी