Home » अजब गजब » Kalpetta Municipality in Kerala's people decide their votes for LB election based on candidates solution to monkey menace
 

पार्षद के चुनाव में वोट देने के लिए लोगों ने रखी उम्मीदवारों के सामने अनोखी शर्त, सुनकर दंग रह जाएंगे आप

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 November 2020, 23:49 IST

Kalpetta Municipality Election: जब भी कहीं चुनाव होता हो तो नेता वोटर्स को लुभाने के लिए तरह-तरह के वादे करते हैं जैस अच्छे स्कूल बनाना, पक्की सड़के, बिजल-पानी की व्यवस्था, अस्पताल आदि. वहीं लोग भी ऐसे नेताओं को चुनना पसंद करते हैं जो उनकी परेशानियों को कम कर सके या पूरी तरह से दूर कर सके. लेकिन केरल के वायनााड में लोगों ने पार्षद के चुनाव में वोट देने के लिए उम्मीदवारों के सामने ऐसी शर्त रख दी जिसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे. दरअसल, इनदिनों वायनाड (Wayanad) के कोने-कोने में नगरपालिका चुनावों के साथ, कलपेट्टा नगर पालिका (Kalpetta Municipality) का चुनाव होना है.

यहां के हरितागिरी रेजिडेंट्स एसोसिएशन (Harithagiri Residents Association) ने फैसला किया कि वे केवल उस पार्टी को ही वोट देंगे जो नगरपालिका में बंदरों द्वारा उत्पन्न समस्याओं का स्थायी समाधान करेगी. बता दें कि कालपेट्टा नगर पालिका में रहने वाले लोगों के लिए बंदरों ने एक विशाल खतरा पैदा कर दिया है.


दीवार पर ऐसे टांगा AC कि सोशल मीडिया में वायरल हो रही तस्वीर, देखने वाले हो रहे हैरान, दे रहे मजेदार रिएक्शन

कलपेट्टा में एक स्थानीय व्यक्ति ने बताया कि, "मैं एक 62 वर्षीय महिला हूं. मैं नियमित रूप से कई वर्षों अपना वोट डाल रही हूं. लेकिन इस बार, मैंने केवल उसे वोट करने का फैसला किया है, जो बंदरों का आतंक खत्म करने का वादा करेगा. इस क्षेत्र के बंदर मेरे घर की छत से टाइल्स को हटाते हैं, मेरी रसोई में प्रवेश करते हैं और सभी भोजन चोरी करते हैं. उनके डर से, मेरे परिवार ने बेडरूम में पकाया खाना रखना शुरू कर दिया है." वह आगे शिकायत करती है कि आज तक किसी भी शासी निकाय ने बंदर की समस्या के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है.

कई हाथियों से अकेला ही भिड़ गया दो महीने का हाथी का छोटा बच्चा, वीडियो में देखें आगे हुआ क्या?

मंदिर में पूजा कर रहे थे पूर्व विधायक, अचानक गिरे धड़ाम और निकल गई जान, CCTV वीडियो आया सामने

हरीथागिरी रेजिडेंट्स एसोसिएशन ने राजनीतिक दलों के पोस्टरों के ठीक सामने बैनर लगा दिए हैं, जिससे उम्मीदवारों को वोट जीतने के लिए बंदर खतरे का सामना करने की समस्या का समाधान करने का आग्रह किया गया है. क्षेत्र के घरों में पत्र पहुंचाने वाले डाकिया राकेश ने कहा कि रोजाना उन्हें रास्ते में बंदरों के बीच से गुजरना पड़ता है. कई बार, बंदरों ने सीधा हमला किया था.

जवानों को सैल्यूट करने वाले बच्चे ने अब 'सैनिक यूनिफॉर्म' पहनकर दी सलामी, वीडियो में देखें बच्चे का जुनून

First published: 16 November 2020, 23:49 IST
 
अगली कहानी