Home » अजब गजब » Kate cunningham marry with a tree in front of her family
 

पेड़ों को बचाने के लिए महिला की अनोखी पहल, जानिए जागरुकता का नया तरीका

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 September 2019, 15:37 IST

दुनियाभर में पेड़ों को बचाने के लिए लोग तमाम तरह के काम करते हैं. इसके लिए वह लोगों में जागरूकता लाने की कोशिश करते हैं. महिला ने पेड़ों को बचाने के लिए कुछ ऐसा किया जिसे जानकर हर कोई हैरान रह गया. दरअसल, शनिवार को पर्यावरण संरक्षणक और सामाजिक कार्यकर्ता केट कंनिंघम ने एल्डर प्रजाति नाम के एक पेड़ से शादी कर ली. इतना ही नहीं केट ने अपना सरनेम भी बदलकर केट रोज एल्डर कर लिया. उनके नए पार्टनर चुनने में उनके परिवार ने भी उनकी पूरी मदद की.

मर्सीसाइड पार्क में हुए शादी समारोह में केट के पिता, ब्रॉयफ्रेंड और बच्चों के साथ कई लोग शामिल हुए. केट ने बताया, उनके बॉयफ्रेंड ने उनके फैसले पर पूरा सहयोग किया जबकि उनका एक बेटा पहले शर्म महसूस कर रहा था, लेकिन वह भी शादी समारोह में शामिल हुआ. शादी समारोह का आयोजन केट के पिता ने किया.

बता दें कि 34 साल की दुल्हन केट कंनिंघम ने लिथरलैंड के रिमरोज घाटी पार्क में स्थित पेड़ से शादी की. शादी का मकसद लोगों को पेड़ों का महत्व बताना है. कंनिंघम इस क्षेत्र के पेड़ों को बचाने के लिए एक अभियान भी चलाएंगी जो नए बायपास के निर्माण में काटे जा सकते हैं.

केट का कहना है कि, हमारा मकसद स्थानीय लोगों के साथ मिलकर रिमरोज घाटी से गुजरने वाले लगभग 9 किलोमीटर लंबे बायपास प्रोजेक्ट को बंद कराने के लिए अभियान चलाना हैं. बायपास का प्रस्ताव इंग्लैंड राजमार्ग द्वारा दिया गया है. इसका उद्देश्य पोर्ट ऑफ लिवरपूल में यातायात के दवाब को कम करना है.

केट ने कहा, यह स्थान मुझे बहुत पसंद है. मेरी मां की मौत अस्थमा से हुई थी. मैं खुद फेफड़ों की बीमारी ब्रोन्किइक्टेसिस से पीड़ित हूं. इस जगह को तबाह कर एक सड़क बनाने का कोई मतलब नहीं है. हमारे इलाके में पहले से ही काफी प्रदूषण है. यदि इस जगह के पेड़ों को काटकर सड़क बनाई जाती है तो यह सीधा-सीधा हम सभी के स्वास्थ्य पर हमला है.

ये है दुनिया का सबसे खतरनाक पुल, जाना तो छोड़ो देखकर ही लोगों के निकल जाती है चीख

First published: 15 September 2019, 15:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी