Home » अजब गजब » Kerala Lord Shiva Temple Milk White Colour Changed to Blue
 

इस मंदिर में शिवलिंग पर दूध चढ़ाने के बाद बदल जाता है उसका रंग, वैज्ञानिक भी नहीं लगा पाए पता

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 December 2019, 18:45 IST

भारत एक ऐसा देश हैं जिसके बारे में कहा जाता है कि हर पांच कोस के बाद पानी और भाषा बदलत जाती है. भारत में तकरीबन हर गांव आपको कम से कम एक मंदिर तो मिल ही जाएगा. इन मंदिरों में कई मंदिरों का अपना पौराणिक महत्व है को कई मंदिरों में के चमत्कार ऐसे में होते हैं जिनका जवाब वैज्ञानिक आज तक नहीं खोज पाएं है. एक ऐसा ही मंदिर केरल में स्थित है. इस मंदिर में जो चमत्कार होता है उसके चर्चे देश नहीं बल्कि पूरे विश्व में हैं.

तमिलनाडु के कीजापेरूमपल्लम गांव में स्थित नागनाथस्वामी मंदिर जिसे केति स्थल के नाम से भी जाना जाता है, यह कावेरी नदी के तट पर स्थित है. इस मंदिर में श्रद्धालुओं द्वारा जब शिवलिंग पर दूध चठाया जाता है तो उसका रंग नीला हो जाता है. आज तक कोई नहीं जान पाया कि आखिर ऐसा क्यों होता है. हालांकि हर बार यह देखने को नहीं मिलता. मान्यात है कि जो लोग केतु ग्रह से किसी भी प्रकार के दोष से पीड़ित होते हैं केवल उनके द्वारा जो दूध चढ़ाया जाता है उसका रंग ही नीला होता है. हालांकि बाद में ये रंग वापस सफेद हो जाता है.

आज तक कोई भी यह नहीं जान पाया कि आखिर दूध का रंग क्यो बदल जाता है और वापस वो सफेद रंग का कैसे हो जाता है. वहीं इस मंदिर में दूध का रंग बदलने को लोग चमत्कार के रूप में देखते है. इस मंदिर में लोग काफी दूर दूर से दर्शन करने आते है.

इश मंदिर से जुड़ी एक मान्यता भी है. कहा जाता है कि एक बार महान ऋषि के श्राप से मुक्त होने के लिए केतु ने भगवान शिव की आराधना की थी. जिसके बाद भगवान शिव ने केतु की तपस्या से खुश होकर शिवरात्रि के दिन केतु को श्राप से मुक्ति दिलाई थी. तभी से केतु को समर्पित इस मंदिर मे भगवान शिवन को भी माना जाता है.

बहरी बच्ची के साथ खेलने और बात करने के लिए पड़ोसियों ने सीखी साइन लेंग्वेज

First published: 27 December 2019, 15:25 IST
 
अगली कहानी