Home » अजब गजब » Kerla 96 Years Old Woman Takes Literacy Test At Examination Center
 

जज्बे को सलाम: 96 साल की उम्र में लिटरेसी टेस्ट देने एग्जाम सेंटर पहुंची 'अम्मा'

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 August 2018, 10:46 IST
(PTI)

बचपन में सबसे सुना होगा कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती. जिसे केरल की एक दादी ने सच कर दिखाया. क्योंकि 96 साल की उम्र में ये दादी लिटरेसी एग्जाम देने परीक्षा केंद्र पर पहुंची. दरअसल, कार्तियानी अम्मा नाम की एक बुजुर्ग महिला केरल में लिटरेसी टेस्ट देने पहुंची. बता दें कि कार्तियानी अम्मा की उम्र 96 साल है.

अम्मा उन 40,440 लोगों में से एक हैं, जिन्होंने रविवार को केरल स्टेट लिटरेसी मिशन द्वारा आयोजित लिटरेसी एग्जामिनेशन दिया. खबरों के मुताबिक अम्मा ने यह परीक्षा चेप्पाड के एक स्कूल में दी. 96 साल की अम्मा में पढ़ने और लिखने की इतनी चाहत थी कि उन्होंने 6 महीने पहले राज्य के साक्षरता अभियान ‘अक्षरालक्ष्म’ में खुद का रजिस्ट्रेशन करवाया था. अब अम्मा केरल में पढ़ाई करने वाली सबसे बुजुर्ग महिला बन चुकी हैं.

बता दें कि अम्मा के अलावा राज्य की अलग अलग जेलों में बंद 80 कैदियों ने भी इस परीक्षा में भाग लिया. पढ़ने-लिखने की ये चाहत अम्मा में तब जगी जब 2 साल पहले उन्होंने अपनी 60 साल की बेटी को पढ़ाई के लिए जाते हुए देखा था. जब उनकी बेटी ने ये परीक्षा पास की तो अम्मा का मन पढ़ाई की ओर आकर्षित होने लगा, फिर क्या था अम्मा ने पढ़ाई के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करा दिया.

बता दें कि पलक्कड डिस्ट्रिक्ट से ही लगभग 11,683 लोगों ने परीक्षा में भाग लिया, जिसमें पढ़ना, लिखना और गणित से जुड़े कुछ सवाल पूछे गए थे. इस टेस्ट में अनुसूचित जाति से 2,420 लोग और अनुसूचित जनजाति से 946 लोगों ने भाग लिया था. अम्मा द्वारा रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद उनके आसपास के 30 और बुजुर्गों ने इस टेस्ट के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाया था.

ये भी पढ़ें- Video: कोबरा सांपों से है यूपी की इस लड़की की गहरी दोस्ती, घर में पाल रखे हैं कई जहरीले सांप

First published: 8 August 2018, 10:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी