Home » अजब गजब » King Bhupinder Singh had 365 queens, Hitler was his friend
 

365 रानियों के साथ सोता था ये राजा, रात गुजारने के लिए रखता था अजीब शर्त, हिटलर से थी दोस्ती

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 September 2019, 14:43 IST

भारत का एक ऐसा महाराजा जो अपनी शानो-शौकत और रंगीन मिजाजी के लिए दुनियाभर में मशहूर था. आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि इस राजा कि दोस्ती हिटलर से थी. इस राजा की 365 रानियां थीं और हर रानियों के साथ रात गुजारने के लिए यह अजीब शर्त रखता था. इस राजा के पास दुनिया की सबसे भौकाली गाड़ी रोल्स रॉयस थी, वह भी एक-दो नहीं बल्कि 44 गाड़ियां.

हम बात कर रहे हैं पटियाला के राजा भूपेंदर सिंह की. भूपेंद्र सिंह ने पटियाला पर साल 1900 से 1938 तक शासन किया. वैसे तो भूपेंद्र सिंह काफी भौकाली राजा थे लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा उनकी रंगीन मिजाजी की होती थी. वह अपनी 365 रानियों के साथ रात गुजारते थे, इस सबके लिए उन्होंने अलग-अलग भव्य महल बनवा रखे थे. 

 

रानी के साथ रात बिताने के लिए रखते थे अजीबो-गरीब शर्त

सबसे हैरानी वाली बात यह थी कि वो किस रानी के साथ अगली रात गुजारनी है इस बात का फैसला अजीबो-गरीब तरीके से करते थे. इसके लिए राजा के महल में कई लालटेन जलाए जाते थे. उनकी 365 रानियां ये लालटेन जलाती थीं. हर लालटेन में अलग-अलग रानियों के नाम होते थे. रात भर ये लालटेन जलती थीं. सुबह जो लालटेन सबसे पहले बुझती थी, उस लालटेन में लिखे नाम को राजा पढ़ते थे और वो रात उस रानी के साथ बिताते थे.

महाराज की गतिविधियों का जिक्र उनके दीवान जरमनी दास ने अपनी किताब 'महाराजा' में किया है. इसमें बताया गया कि भूपेंद्र सिंह ने पटियाला में 'लीला-भवन' या रंगरलिया महल बनवाया था. यहां  पर केवल निर्वस्त्र लोगों को ही एंट्री मिलती थी. लीला भवन पटियाला शहर में भूपेन्दर नगर जाने वाली सड़क पर बाहरदरी बाग़ के पास बना है.

राजा को था सामूहिक सेक्स का शौक

किताब में लिखा है कि राजा की सेक्स की भूख अतुलनीय थी. अपनी जवानी में वह सेक्स के प्रति इतने आतुर थे कि उनकी खेल के प्रति रूचि कम होती चली गई. वह गर्मियों में अपने स्वीमिंग पूल में नग्न महिलाओं के साथ मदिरा लेकर अय्याशी करता था. फ्रेन्च ब्यूटीशियन, भारतीय प्लास्टिक सर्जन, सोनार, परफ्यूमर और फैशन डिज़ाइनर्स से वह अपनी रखैलों को पसंद के हिसाब से सजवाता था.

किताब 'महाराजा' में राजा के बारे में लिखा गया है कि 150 से 400 नग्न पुरुष और नग्न महिलाओं के साथ राजा अय्याशी करता था. इसमें नग्न औरतों के सीने पर मदिरा उड़ेल दी जाती थी और राजा इस मदिरा का सेवन करता था. इसके बाद सामूहिक सेक्स होता था.

राजा के पास 44 रोल्स रॉयस कार थी. इसमें से 20 कारों का काफिला रोजमर्रा के कामों में उपयोग होता था. यह सिर्फ राज्य के दौरे के लिए इस्तेमाल होती थीं. आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि भारत में एयरप्लेन खरीदने और अपने राज्य में रनवे बनाने वाले वह पहले व्यक्ति थे. 

भूपेंद्र सिंह की थी हिटलर से दोस्ती !

बताया जाता है कि राजा भूपेंद्र सिंह की जर्मनी के तानाशाह हिटलर से दोस्ती थी. साल 1935 में बर्लिन ओलंपिक के दौरान भूपेंद्र सिंह की मुलाकात हिटलर से हुई थी. इसमें हिटलर राजा भूपेंद्र से इतने प्रभावित हो गए कि उन्होंने अपनी माय्बैक कार राजा की तोहफे में दे दी थी.

महाराजा के पास 2,930 हीरो वाला एक नेकलेस था, इस नेकलेस में दुनिया का सातवां सबसे बड़ा हीरा जड़ा था. नेकलेस का वजन लगभग एक हजार कैरेट था. इसकी कुल कीमत 166 करोड़ रुपये थी.नेकलेस को बनाने वाली कंपनी कार्टियर का इस पर मलिकाना हक है.

राजा की ठाठ का एक और उदाहरण तब सामने आया जब उन्होंने साल 1929 में कीमती नग, हीरों और आभूषणों से भरा संदूक पेरिस केे एक जौहरी को भेजा था. 3 साल की कारीगरी के बाद यह हार तैयार हुया था, तब इस हार ने खूब चर्चा बटोरी थी. 25 मिलियन डॉलर कीमत वाला यह हार देश के सबसे महंगे आभूषणों में से एक है.

अमेरिका में ही डोनाल्ड ट्रंप के सबसे बड़े दुश्मन से मिले PM मोदी, भारत से है खास रिश्ता

इस गांव में मिला था सोने का सबसे बड़ा भंडार, सरकार और जनता में शुरू हो गया था युद्ध

First published: 27 September 2019, 14:10 IST
 
अगली कहानी