Home » अजब गजब » know about canadian player mark mocmorris who won bronze medal in winter Olympics pm modi has talks about students in pariksha per charch
 

इस खिलाड़ी की हालत देख पीएम मोदी भी रह गए थे हैरान, मैडल जीत रचा इतिहास

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 February 2018, 10:29 IST

जिंदगी में कुछ बड़ा करने की ख्वाहिश अगर मन में हो तो इंसान कुछ भी कर सकता है. फिर चाहे कितनी भी मुश्किलें सामने खड़ी हों. ऐसा ही कुछ कर दिखाया कनाडा के खिलाड़ी ने. जिसने ने मौत को मात दे दी और फिर रच दिया इतिहास.

ये भी पढ़ें- Video: ये चोरी आपको हंस हंस कर लोट-पोट करने को मजबूर कर देगी

हम बात कर रहे हैं कनाडा के मार्क मैक मॉरिस के बारे में जिन्होंने विंटर ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रच दिया. कनाडा का ये खिलाड़ी स्नोबोर्डिंग करते वक्त वो पेड़ से टकरा गए था. इस हादसे में मार्क मैक मॉरिस की 7 हड्डियां टूट गई थीं. इस हादसे में उनकी पसलियां, जबड़ा और बायां फेफड़ा तक डेमेज हो गया था. जिसके बाद वो कोमा में चले गए.

इस हादसे के करीब 11 महीने बाद उन्होंने विंटर ओलिंपिक में भाग लिया और शानदार परफॉर्म करेत हुए स्लोप स्टाइल इवेंट में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर सभी को हैरान कर दिया.

प्रधानमंत्री मोदी कर चुके हैं मार्क मैक मॉरिस का जिक्र

बतादें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'परीक्षा पर चर्चा' के दौरान बच्‍चों से बड़े दोस्‍ताना अंदाज में बात की थी. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के 10 करोड़ स्टूडेंट्स को एक संदेश दिया था. प्रधानमंत्री ने कहा, कि मुझे सबसे बड़ी शिक्षा मिली कि भीतर के विद्यार्थी को कभी मरने मत देना. उन्होंने इस दौरान मार्क मैक मॉरिस की कहानी भी सुनाई थी. इस दौरान पीएम मोदी ने मार्क की हिम्मत और कामयाबी की खूब तारीफ की थी.

मार्क ने ट्वीट कर जताया जिंदगी का शुक्रिया 

विंटर ऑलंपिक में मेडल जीतने के बाद मार्क ने सोशल मीडिया पर दो फोटो डालीं. एक फोटो अस्पताल के उन दिनों की है जब वो कोमा की स्थिम में अस्पताल में भर्ती हैं. तो दूसरी तस्वीर में तस्वीर में वो पोडियम पर मेडल के साथ खड़े थे. इन फोटो के साथ उन्होंने लिखा, ''शुक्रिया जिंदगी.'' बता दें कि मार्क का ये दूसरा मेडल है. इससे पहला उन्होंने 2014 सोची ओलिंपिक में मेडल जीता था. दुर्घटना में मार्क की नाजुक हालत को देखते हुए किसी ने ये नहीं सोचा होगा कि वो कभी कोमा से बाहर आकर खेल भी पाएंगे. लेकिन अपनी हिम्मत से मार्क ने मौत को ना सिर्फ मात दी बल्कि खेल के इतिहास में एक नया पन्ना जोड़ दिया.

First published: 17 February 2018, 10:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी