Home » अजब गजब » Kolkata Man Dialled Flipkart to complain got SMS to Join BJP
 

Flipkart ने हेडफोन की जगह भेजी तेल की बोतल, शिकायत की तो मिल गई बीजेपी की सदस्यता

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 June 2018, 14:03 IST

ई-कॉमर्स साइट पर किए गए सामान की सही डिलीवरी ना मिलने की आपने तमाम खबरें सुनी होंगी. ऐसा ही कुछ कोलकाता के एक युवक के साथ हुआ. यही नहीं शिकायत के लिए फोन करने पर ई-कॉमर्स साइट ने युवक को बीजेपी की सदस्या दे दी.

दरअसल, इन दिनों पूरी दुनिया के लोगों में फीफा वर्ल्डकप का खुमार छाया हुआ है. ऐसे में भारत में फुटबॉल के चाहने वाले फीफा वर्ल्ड कप का आनंद उठा रहे हैं. कोलकाता का एक भी फुटबॉल का दीवाना है और फीफा वर्ल्ड कप के मैच देखता है. देर रात तक फीफा वर्ल्ड कप के मैच देखने के लिए उसने ई-कॉमर्स साइट फ्लिपकार्ट पर दो हेडफोन का ऑर्डर किया था. जिससे परिवारिजनों को दिक्कत ना हो.

इस युवक को जब फ्लिपकार्ड की ओर से ऑर्डर की डिलीवरी मिली. जिसे उसने खोलकर देखा तो हैरान रह गया. क्योंकि पैकेट में हेडफोन की जगह तेल की बोतल निकली. उसके बाद युवक ने गुस्से में फ्लिपकार्ट को शिकायत के लिए पैकेट पर दिए नंबर फोन किया, लेकिन फोन एक रिंग जाने के बाद कट गया.

युवक ने जब दूसरी बार फोन लगाया तो उससे पहले उसके मोबाइल पर एक मैसेज आया. जिसकी शुरुआत में लिखा था 'वेलकम टू बीजेपी' यानी बीजेपी में आपका स्वागत है. इस मैसेज में आगे प्राइमरी मेंबरशिप नंबर (प्राथमिक सदस्यता नंबर) भी लिखा था और आगे की प्रक्रिया पूरी करने के लिए अगले स्टेप को फॉलो करने का निर्देश दिया गया था. 

उसके बाद युवक ने उस नंबर को दोबारा डायल किया तो फिर से उसे वही मैसेज मिला. इसके बाद उसने अपने दोस्तों को भी नंबर दिया और उन्हें भी फोन करने पर यही मैसेज मिले. इससे उन्हें एहसास हुआ कि दिया गया 1800 266 1001 नंबर बीजेपी का है. बाद में युवक ने कहीं से फ्लिपकार्ट का सही हेल्पलाइन नंबर लिया. जिसपर उसने अपनी शिकायत दर्ज कराई.

 

वहीं पश्चिम बंगाल बीजेपी ने फ्लिपकार्ट से किसी भी तरह के संबंध से इनकार किया है.पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि, 'बीजेपी का नंबर वेबसाइट और फेसबुक समेत तमाम जगहों पर है. कोई भी इसे शेयर कर सकता है. आप खुद कर सकते हैं. यह हमारी जिम्मेदारी नहीं है.' 

फ्लिपकार्ट के पैकेट पर छपा था बीजेपी का नंबर

वहीं इस मामले में फ्लिपकार्ट ने एक बयान में कहा कि उसने यह नंबर 3 साल पहले छोड़ दिया था. हालांकि यह पैकिंग के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले टेप पर प्रिंट था. जिनमें से कुछ टेप अभी भी इस्तेमाल किए जा रहे हैं. कंपनी ने कहा कि, 'संभव है कि ऑपरेटर ने यह नंबर दोबारा अलॉट कर दिया हो, क्योंकि अक्सर ऑपरेटर किसी नंबर के 6 महीने तक इस्तेमाल में न होने के बाद उसे दोबारा दूसरे कस्टमर को अलॉट कर देते हैं'.

दूसरी ओर, फ्लिपकार्ट ने फुटबॉल प्रशंसक को पैकेट में हेडफोन की जगह गलती से तेल की बोतल भेजने के मामले में मांफी मांगी है. फ्लिपकार्ट ने कहा है कि, 'वो चाहें तो उस तेल को इस्तेमाल कर सकते हैं या फेंक दें. उन्हें हेडफोन भेजा जा रहा है.' 

ये भी पढ़ें- राजस्थान में अब 'शराबी' करेंगे गौरक्षा, वसुंधरा सरकार ने गौ-संरक्षण के लिए लगाया 20% सरचार्ज

First published: 26 June 2018, 10:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी