Home » अजब गजब » Languishing Life Imprisonment Don Arun Gawli Tops In Gandhi Exam
 

नागपुर की सेंट्रल जेल में बंद डॉन अरुण गवली ने 'गांधी जागरूकता परीक्षा' में किया टॉप

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 August 2018, 12:00 IST

क्या आपने कभी सुना है कि कोई कैदी किसी परीक्षा में टॉप कर सकता है. लेकिन नागपुर की सेंट्रल जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे एक कैदी ने गांधी जी पर आधारित एक परीक्षा में टॉप कर दिया. इस कैदी का नाम है अरुण गवली.

माफिया डॉन अरुण गवली ने 2017 की गांधी जागरूकता परीक्षा में टॉप किया है. बता दें कि गवली वर्तमान में नागपुर सेंट्रल जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है. सहयोग ट्रस्ट के ट्रस्टी रवींद्र भूसरि ने बताया कि गवली ने प्रश्नपत्र के 80 में से 74 सवालों के सही जवाब दिए. उन्होंने खुशी जताते हुए कहा कि, “उसने जेल में गांधीवाद के सिद्धांतों को आत्मसात करने के लिए गंभीर प्रयास किए हैं."

बता दें कि अक्टूबर 2017 में आयोजित हुई इस परीक्षा में कुल 160 कैदियों ने अपनी इच्छा से भाग लिया था. जिनमें 12 कैदी मृत्युदंड की सजा का सामना कर रहे हैं. और कई उम्रकैद की सजा काट रहे है. परीक्षा में शामिल कैदियों में कुछ के मामलों की सुनवाई अभी भी चल रही है. बता दें कि आम तौर पर इस परीक्षा के परिणाम 30 जनवरी को घोषित किए जाते हैं.  इस साल कुछ जांच के मुद्दों को लेकर परिणाम घोषित करने में सात महीने की देरी हुई है.

भूसरि ने बताया कि, “संयोग से टॉपर अरुण गुलाब अहीर उर्फ अरुण गवली 2017 की परीक्षा के लिए आवेदक नहीं थे.” उन्होंने बताया कि, "गवली ने बाकी उम्मीदवारों को बम्बई सर्वोदय मंडल (बीएसएम), मुंबई से बेहतरीन अध्ययन सामग्री और अन्य साहित्य भेजा जाता देखकर परीक्षा में भाग लेने की अपनी इच्छा जाहिर की."

बता दें कि गवली को 2012 में शिवसेना के एक नेता की हत्या के लिए दोषी पाया गया. जिसके लिए उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई. इसी के तरह वर्तमान में वह नागपुर सेंट्रल जेल में बंद है.

ये भी पढ़ें- अपनी गर्लफ्रेंड के साथ भूत बनकर सेक्स कर रहा है ये शख्स

First published: 14 August 2018, 11:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी