Home » अजब गजब » Massive Fire Work in America Recorded in Guinness World Record
 

अमेरिका में हुआ जबरदस्त धमाका, 1.3 टन बारूद से पूरा आसमान हो गया लाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2020, 17:15 IST

अमेरिका के कोलोराडो स्की रिसॉर्ट शहर में रात का समय था और तभी एक बड़े धमाके के बाद पूरे आसमान का रंग बदल गया. जहां तक लोगों की नजर गई सबको लाल की लाल रंग दिखाई दिया. अमेरिका के शहर में यह कोई आतंकी हमला नहीं था बल्कि विंटर कार्निवल के दौरान दुनिया का सबसे बड़ा फायरवर्क किया गया था. इस फायरवर्क को गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में शामिल किया गया है.

दुनिया का सबसे बड़ा फायरवर्क कोलोराडो के एमराल्ड माउंटेन पर किया गया. यह फायरवर्क स्टीमबोट फायरवर्क की टीम के द्वारा किया गया था. इसको सफल बनाने के लिए इस टीम ने पहाड़ी से 26 फीट की स्टील ट्यूब के जरिए एक गोले को आसमाना में दागा था. बारूद से भरे इस गोले का वजन 2,800-पाउंड (1,270 किलोग्राम) था और इसका व्यास 5 मीटर था जबकि इसकी ऊंचाई 62 इंच थी.


स्टीमबोट स्प्रिंग्स के टिम बोर्डन ने उस टीम का नेतृत्व किया जिसने सात वर्षों में फायरवर्क का निर्माण किया था. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बोर्डेन ने पिछले साल विश्व रिकॉर्ड कायम करने का प्रयास किया था, लेकिन जब मोर्टार के अंदर से विस्फोट हुआ, तो वह असफल हो गए.

 

गौरतलब हो, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के प्रतिनिधियों ने दोनों प्रयासों को देखा है. गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के प्रतिनिधियों में से एक क्रिस्टीना कोनलोन ने कहा कि उसने शनिवार को लॉन्च किए गए शेल को सत्यापित किया कि वह दुनिया का सबसे बड़ा है.

बता दें, इससे पहले सबसे बड़े फायरवर्क का रिकॉर्ड संयुक्त अरब अमीरात के पास था, जब साल 2018 में वहां पर 2,397-पाउंड (1,087 किलोग्राम) विस्फोटक लॉन्च किया गया था. शानिवार को जो फायरवर्क हुआ वो बीते फायरवर्क के मुकाबले 400 पाउंड (181 किलोग्राम) भारी था.

बोर्डेन और उनकी टीम को इसके लिए प्रमाण पत्र दिया गया. इस रिकॉर्ड के मिलने के बाद उन्होंने कहा कि पिछले साल के असफल प्रयास के बाद वापस आने में दृढ़ता और दृढ़ता दिखाई.

हिटलर का वो खतरनाक 'हथियार' जिसे कहा जाता था 'मौत का देवता', लोगों पर करता था खतरनाक प्रयोग

First published: 10 February 2020, 18:56 IST
 
अगली कहानी