Home » अजब गजब » Meet this lady who fooled 11 person by becoming their bride for 10-10 day & after that taken all their money & jewellery
 

शातिर दुल्हनः 10-10 दिनों के लिए बनी 11 दूल्हों की पत्नी

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 December 2016, 14:13 IST

यूं तो शादी के कुछ दिन बाद ससुराल का रुपया-जेवर लेकर चंपत होने वाली लुटेरी दुल्हन के कई किस्से आप सुन चुके होंगे, लेकिन अब एक अनोखा मामला सामने आया है. इस कहानी में नई-नवेली दुल्हन दूल्हेे के साथ 10 रात गुजारकर अपना विश्वास जमाती थी और फिर लूट की वारदात को अंजाम देती थी. 

यह शातिर दुल्हन अब तक वह 11 दूल्हों को अपना शिकार बना चुकी है. आइए आपको भी रूबरू कराते हैं इस शातिर दुल्हन से, जिसे केरल और नोएडा पुलिस की संयुक्त टीम ने एक साथ पकड़ा है.

क्या है मामला

प्राप्त जानकारी के मुताबिक 32 वर्षीय केरल निवासी लारिंग जोस्टस के शादी का विज्ञापन पढ़कर बिचौलिया महेंद्र उनके पास पहुंचा. महेंद्र ने आरोपी युवती मेघा भार्गव की फोटो उन्हें दिखाई. इसके बाद बहन प्राची व जीजा देवेंद्र ने लारिंग से मुलाकात की. लारिंग को भी मेघा पंसद आ गई. आती भी क्‍यों न वह सुंदर ही इतनी थी. 

इसके बाद दोनों की शादी करा दी गई, लेकिन लारिंग को यह पता नहीं था कि वह मेघा का 11वां शिकार था. जिसकी बातों में आकर लारिंग बुरी तरह से फंसने वाला था. शादी के महज 10 दिन बाद ही मेघा घर से गहने व नगदी लेकर फरार हो गई. इसके बाद लारिंग ने केरल पुलिस ने इस मामले की शिकायत की.

फुलप्रूफ योजना बनाते थे

आरोपी इतने शातिर थे कि यह लोग एक राज्य में दोबारा यह काम नहीं करते थे. शिकार करने के बाद काफी दिनों के लिए यह अलग-अलग हो जाते थे. इसके बाद दोबारा किसी दूसरे शिकार की तलाश करते थे. 

पूछताछ में इन लोगों ने अभी तक चार लोगों से शादी की बात भी कबूल की है. इन्होंने अब तक केरल, मुबंई, राजस्थान, पुणे के अलावा मध्य प्रदेश के युवकों को फंसाया और शादी का माल लेकर चंपत हो गए.

कौन है शातिर दुल्हन

मेघा भार्गव (25) मूलरूप से इंदौर की रहने वाली है. जबकि जीजा देवेंद्र व बहन प्राची नोएडा के सेक्टर-120 आम्रपाली जोडिएक सोसाएटी में रहते थे. सारी कहानी और प्लानिंग होटल में की जाती थी. इसके बाद युवक को शिकार बनाया जाता था. बिचौलिया महेंद्र मेघा के लिए रिश्ता लाता था. जिसके बदले उसे अच्छा पैसा दिया जाता था. संयुक्त पुलिस की टीम ने इन चारों को सेक्टर-120 से ही गिरफ्तार किया है.

शादी करने के 10 दिन बाद मेघा घर से नगदी व गहने लेकर फरार हो जाती थी. पूरी प्लानिंग के साथ यह उस राज्य को छोड़कर कहीं ओर चले जाते थे, ताकि जब तक मामला ठंडा नहीं हो जाता तब तक यह लोग आपस में नहीं मिलते थे. इसके बाद नए दूल्हे की तलाश शुरू होती थी.

First published: 18 December 2016, 14:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी