Home » अजब गजब » Milk That Turns Blue in the Nagnathaswamy Tempe in Kerala
 

इस मंदिर में दूध चढ़ाने के बाद बदल जाता है उसका रंग, हैरान करने वाली है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2018, 10:07 IST
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

हिन्दू धर्म को मानने वाले कई देवी-देवताओं की पूजा अर्चना करते हैं. इस धर्म के अनुयायी नव ग्रहों की भी पूजा करते हैं. जिनमें राहु और केतु का अपना अलग महत्व है. हर ग्रह का उसके संबंधित जातक के ऊपर कुछ न कुछ प्रभाव जरूर रहता है. ऐसे ही राहु और केतु भी अपने जातक को प्ररभावित करते हैं. केरल में एक ऐसा ही मंदिर है. जो केतु को समर्पित है. ये मंदिर केरल के कीजापेरूमपल्लम गांव में स्थित है.

इस मंदिर को नागनाथस्वामी मंदिर या केति स्थल के नाम से जाना जाता है. कावेरी नदी के तट पर बने इस मंदिर के कई रहस्य हैं. इसी के चलते लोगों के बीच इस मंदिर की बड़ी मान्यता है. बता दें भले ही ये मंदिर केतु को समर्पित है लेकिन मंदिर के प्रमुख भगवान शिव है. इसीलिए इस मंदिर को नागनाथ के नाम से भी जाना जाता है.

बता दें कि इस मंदिर में राहु के ऊपर दूध चढ़ाने दूर-दूर से लोग आते हैं. सबसे ज्यादा हैरान कर देने वाली बात ये है कि इस मंदिर में कुछ लोगों के दूध चढ़ाने पर उस दूध का रंग बदलकर नीला हो जाता है. ऐसा माना जाता है कि जो लोग केतु ग्रह के दोष से पीड़ित होते हैं केवल उनके द्वारा चढ़ाए गए दूध का ही रंग बदलता है.

 

यहां के लोगों के बीच केति स्थल से संबंधित एक पौराणिक कथा काफी मशहूर है. कहा जाता है कि एक बार एक ऋषि के श्राप से मुक्त होने के लिए केतु ने शिव की आराधना शुरु की. शिवजी केतु की तपस्या से खुश हुए और किसी एक शिवरात्रि के दिन उन्होंने केतु को ऋषि के श्राप से मुक्ति दिलाई. शायद यही वजह है कि केतु को समर्पित इस मंदिर का प्रमुख भगवान शिव को माना जाता है.

ये भी पढ़ें- जब सड़क पर चलती है ये साइकिल तो थम जाते हैं गाड़ियों के चक्के, ये है वजह

First published: 11 June 2018, 10:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी