Home » अजब गजब » Mumbai: Dadarao Bilhore who lost his son due to pothole accident filling from past 3 year
 

पिछले तीन साल से मुंबई में सड़कों के गड्ढे भरता है यह शख्स, हैरान करने वाली है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2018, 14:15 IST

मुंबई की सड़कों पर एक शख्स हाथों में गड्ढे भरने का सामान लिए दिखाए देते हैं. वे जहां भी सड़कों में गड्ढे देखते हैं उन्हें भरना चालू कर देते हैं. आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि वह पिछले एक-दो महीने से नहीं बल्कि पिछले तीन सालों से गड्ढे भर रहे हैं. उन शख्स का नाम दादाराव बिलहोरे है.

बता दें कि मुंबई के रहने वाले दादाराव बिलहोरे के 16 साल के बेटे प्रकाश की 28 जुलाई, 2015 को एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी. उनके बेटे प्रकाश उस दिन बाइक से जोगेश्वरी-विक्रोली लिंक रोड से गुजर रहे थे. रास्ते में पानी भरा हुआ था. इस वजह से प्रकाश को गड्ढा दिखाई नहीं दिया जिसमें डूबने से उसकी मौत हो गई.

 

बेटे की मौत ने दादाराव को तोड़कर रख दिया. इसके बाद उन्होंने ठानी कि वह गड्ढों की वजह से होने वाले हादसों को रोकने का प्रयास करेंगे. तब से वह मुंबई में गड्ढे भरने का काम करते हैं. अब तक वे 556 गड्ढे भर चुके हैं.

न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, उन्होंने कहा कि मैं नहीं चाहता कि जो मेरे बेटे के साथ हुआ वह दूसरे लोगों के साथ हो. मैं तब तक गड्ढे भरता रहूंगा जब तक भारत गड्ढामुक्त नहीं हो जाता. हमारे देश की जनसंख्या बहुत ज्यादा है. अगर एक लाख लोग भी गड्ढे भरना शुरू करें तो भारत गड्ढामुक्त बन जाएगा.

वह निर्माणाधीन इमारतों के पास से रेत, बजरी जैसी चीजें इकट्ठा करके सड़कों के गड्ढे भरते हैं और लोगों से इमारतों के बनने में लगने वाले सामान को न फेंकने की गुजारिश करते हैं. बता दें कि सड़क के गड्ढे महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट बन चुके हैं. इसी महीने मॉनसून की बारिश की वजह से मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में जलभराव देखने को मिला.

पढ़ें- भारत का यह शहर नहीं मानता है अपने ही देश की सरकार को, न ही चलता है पैसा

First published: 30 July 2018, 14:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी