Home » अजब गजब » Mumbai Pafe Restaurant Where Dogs Celebrates Birthday Party Everyday
 

इस रेस्टोरेंट में इंसान नहीं कुत्ते सेलिब्रेट करते हैं बर्थडे पार्टी, मिलती हैं ये डिश

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 August 2018, 13:31 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

आपने रेस्टोरेंट तो बहुत देखे होंगे और उनमें पार्टियों का लुत्फ भी उठाया होगा, लेकिन क्या कभी आपने ऐसा रेस्टोरेंट भी देखा है जहां सिर्फ कुत्ते पार्टी करते हो, नहीं देखा तो चलिए आज हम आपको ऐसे ही एक रेस्टोरेंट के बारे बताते हैं. जहां आपको कुत्ते पार्टी में मस्ती करते नजर आएंगे. दरअसल, ये रेस्तरां मुंबई के अंधेरी इलाके में स्थित है. इस रेस्तरां का नाम है पेट्स इमोसंस फूड ऐंड एवरीथिंग यानी पेफे रेस्टोरेंट.

इस रेस्तरां में कुत्तों के लिए खास तरह के पकवान बनाए जाते हैं. यही नहीं उन्हें दूसरे कुत्तों के साथ समय बिताने और खेलने का भी मौका मिलता है. यह रेस्तरां विशेष तौर पर कुत्तों को ध्यान में ही रखकर बनाया गया है. इस रेस्तरां की खास बात ये है कि यहां खाने की टेबल से लेकर पूरा इंटीरियर ही कुत्तों को ध्यान में रखकर बनाया गया है.

यही नहीं अपने मालिकों के साथ कुत्तों के बैठने के लिए अलग से कुर्सियां लगाई गई हैं. इस रेस्तरां को चलाने वालों का कहना है कि उनके यहां रोजाना कम से कम 100 कुत्ते आते हैं. वीकेंड पर तो इनकी संख्या ज्यादा हो जाती है. इसलिए उनकी एडवांस बुकिंग करानी पड़ती है. बता दें कि जानवरों से प्यार करने वालों के लिए ये रेस्तरां किसी वरदान से कम नहीं है. डॉग लवर्स अपने पालतू कुत्तों को यहां लेकर आते हैं और उन्हें इस रेस्तरां में उनके पसंद का खाना खिलाया जाता है.

यही नहीं बल्कि कुत्तों के बर्थडे पर खास तौर से पार्टी ऑर्गनाइज की जाती है. मुंबई के अलावा इस रेस्तरां में अहमदाबाद, नासिक और पुणे तक से लोग अपने पेट्स के साथ आते हैं. रेस्तरां के मालिक के मुताबिक, यहां कुत्तों के स्वास्थ्य का भी विशेष ध्यान रखा जाता है. उनका कहना है कि, उन्होंने सबसे पहले कुत्तों के खाने की चीजों पर काफी रिसर्च किया था.

प्रतीकात्मक फोटो

इस रेस्तरां में रेस्तरां मालिक खुद कुत्तों के लिए डिशेज बनाते हैं. यहां आने वाले ज्यादातर कुत्तों को रिसोटो नाम की डिश सबसे ज्यादा पसंद आती है. हालांकि इस रेस्तरां में सिर्फ शाकाहारी डिश ही बनाई जाती है. क्योंकि यह संस्था जानवरों के लिए काम करती है. रेस्तरां मालिक का कहना है कि कुत्तों को घर से बाहर के वातावरण से रूबरू करवाने के लिए उन्होंने इस रेस्तरां को खोलने का फैसला लिया था. घर से बाहर आने पर कुत्तों में सकारात्मक बदलाव भी आते हैं क्योंकि एक ही जगह रहते-रहते कुत्तों की प्रवृत्ति गुस्सैल हो जाती है.

ये भी पढ़ें- इस सड़क पर बिना डीजल-पेट्रोल के फर्राटे भरते हैं वाहन, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे

First published: 30 August 2018, 13:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी