Home » अजब गजब » Mysterious Tunnel where Baarat goes disappeared, secret has not been revealed till now
 

ये है दुनिया की सबसे रहस्यमयी सुरंग, जिसमें गायब हो गई थी पूरी बारात, आज तक नहीं चला किसी का पता

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 October 2021, 13:58 IST

पूरी दुनिया लाखों करोड़ों रहस्यों से भरी पड़ी है. इनमें से कुछ रहस्य भारत में भी मौजूद हैं जिनके बारे में आज तक कोई पता नहीं लगा पाया. दुनियाभर के तमाम वैज्ञानिक भी इन रहस्यों को सुलझा नहीं पाए. आज हम आपको एक ऐसे रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे आजतक कोई सुलझा नहीं पाया. दरअसल, यह रहस्य हरियाणा के रोहतक जिले के महम शहर में एक बावड़ी से जुड़ा हुआ है. महम की बावड़ी ज्ञानी चोर की गुफा के नाम से भी जानी जाती है. यहां पर बावड़ी के एक पत्थर पर फारसी भाषा में लिखा गया है स्वर्ग का झरना.

बावड़ी में लगे फारसी भाषा के एक अभिलेख में बताया गया है कि मुगल बादशाह के सूबेदार सैद्यू कलाल ने साल 1658-59 ईसवीं में स्वर्ग के इस झरने का निर्माण कराया था. बता दें कि मुगलकाल में बनाई गई इस बावड़ी को रहस्यों और किस्से-कहानियों के लिए जाना जाता है. बताया जाता है कि इस रहस्यमयी बावड़ी में अरबों रुपयों का खजाना छिपा है. यह भी दावा किया जाता है कि यहां सुरंगों का जाल है जो दिल्ली, हांसी, हिसार और पाकिस्तान तक जाता है. इस बावड़ी में एक कुआं स्थित है. इस कुएं तक पहुंचने के लिए 101 सीढ़ियां बनाई गई थीं, लेकिन इस कुएं में अब सिर्फ 32 सीढ़ियां ही बची हैं. साल 1995 में यहां भयानक बाढ़ आई थी जिसने बावड़ी के एक बड़े हिस्से को तबाह कर दिया था.


फिलहाल यह बावड़ी पर पुरातत्व विभाग का कब्जा है. अब बावड़ी के चारों तरफ रेलिंग लगा दी गई है और साफ सफाई भी की जाती है. कुछ दीवारों और सीढ़ियों को फिर से बनाया गया है. इस बावड़ी को ज्ञानी चोर की गुफा के नाम से भी जाना जाता है. लोग बताते हैं कि अंग्रेजों के शासन के समय एक बारात इस सुरंग के रास्ते दिल्ली जा रही थी, लेकिन बारात में शामिल सभी लोग गायब हो गए. बारात के कई दिन बीत जाने के बाद भी सुरंग में गए बाराती न तो दिल्ली पहुंचे और न ही वापस आए. 

डरावनी गुड़ियों से सजे इस घर में रहते हैं भूत, रात में इसके सामने से भी नहीं गुजरते लोग

तब से यह सुरंग चर्चा का विषय बन गई है. किसी अनहोनी होने की घटना की वजह से अंग्रेजों ने इस सुरंग को बंद कर दिया. यह सुरंग अभी भी बंद है. बता दें कि हरियाणा के रोहतक जिले में स्थित महम और आसपास के लोगों का कहना है कि उस समय एक प्रसिद्व चोर था जिसका नाम ज्ञानी था और वह चोरी करने के बाद इस गुफा में छिप जाता था ताकि पुलिस उसे न पकड़ पाए. वह एक शातिर चोर था, जो अमीरों को लूटता था और इस बावड़ी में छिप जाता था. 

ये है धरती पर नरक का द्वार, जिसने भी की अंदर जाने की गलती कभी नहीं आया वापस

First published: 14 October 2021, 13:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी