Home » अजब गजब » Neatherlands pay 16 rupees per kilometer cycle when going office
 

इस देश में साइकिल से ऑफिस आने वालों को मिलता है पैसा, हर किलोमीटर के मिलते हैं 16 रुपये

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 March 2019, 14:11 IST

आज हमारे देश में लोग साइकिल का प्रयोग कम करते जा रहे हैं. साइकिल की जगह अब बाइक और कार ने ले ली है. लेकिन दुनियाभर के तमाम देश दोबारा से साइकिल को तबज्जो देने लगे हैं. क्योंकि साइकिल के प्रयोग से स्वास्थ्य को भी दुरुस्त रखा जा सकता है.

साथ ही ट्रैफिक जाम जैसी तमाम परेशानियों से भी बढ़ा जा सकता है यही नहीं साइकिल के प्रयोग से पेट्रोल के पैसे भी बचा सकते हैं. लेकिन आप ये नहीं जानते होंगे कि दुनिया में एक ऐसा भी देश है जो साइकिलिंग के बदले पैसे भी देता है. दरअसल, नीदरलैंड दुनिया का एक ऐसा ही देश है जहां साइकिल से ऑफिस जाने पर आपको कंपनी की तरफ से अलग से पैसे दिए जाते हैं.

नीदरलैंड में साइकिलिंग को बढ़ावा देने के लिए ऐसा किया गया है. यही वजह है कि यहां की जितनी आबादी है उससे ज्यादा साइकिल है. नीदरलैंड में ऑफिस जाने के लिए अगर कोई कर्मचारी साइकिल का इस्तेमाल करता है तो उसे हर किलोमीटर के बदले 0.22 डॉलर (करीब 16 रुपये) अलग से मिलते हैं. वहां की सरकार ने कंपनियों को सख्त निर्देश दिया है कि वे इस नियम का पालन करें.

बता दें कि नीदरलैंड की तरह यूरोप के कई देशों में भी 'साइकिल टू वर्क स्कीम' लागू है. यहां ऑफिस जाने के लिए साइकिल का इस्तेमाल करने पर आपको हर किलोमीटर के बदले अलग से पैसे मिलते हैं. आपको इंग्लैंड और बेल्जियम की सड़कों पर बड़ी संख्या में लोग साइकिल की सवारी करते दिखाई देंगे. यूरोप के कई देशों में अगर आप साइकिल खरीदने जाते हैं तो आपको टैक्स में भारी छूट दी जाती है.

ऐसा माना जा रहा है कि साइकिलिंग का प्रचार होने से इन देशों की पेट्रोल-डीजल पर कम निर्भरता हो रही है. नीदरलैंड में तो सरकार की तरफ से साइकिलिंग के लिए शानदार इंप्रास्ट्रक्चर तैयार किया गया है. खबरों के मुताबिक, एम्सटर्डम में ऑफिस जाने वाले लोग आधा सफर साइकिल से पूरा करते हैं. साइकिल चलाने वालों के लिए शहरों में अलग से रास्ता बनाया गया है. यही नहीं जगह-जगह साइकिल पार्किंग और सुरक्षित स्टैंड बनाए गए हैं.

एयरपोर्ट पर छूट गया बच्चा तो लेने के बीच रास्ते से लौटा विमान, जानिए फिर क्या हुआ

First published: 12 March 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी