Home » अजब गजब » New Year In Ethiopia Know The Reason of This Country Is 8 Years Behind The World
 

दुनिया से 8 साल पीछे चलता है ये देश, यहां इस साल मनाया गया 2011 का जश्न

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 January 2019, 15:16 IST

पूरी दुनिया में नए साल यानि साल 2019 का जश्न धूमधाम से मनाया गया. लेकिन इनमें से एक देश ऐसा भी है जहां साल 2019 का जश्न नहीं मनाया गया, बल्कि इस देश के लोगों ने साल 2011 का जश्न मनाया. यानि ये देश आज भी दुनिया के सभी देशों से आठ साल पीछे चल रहा है. यही नहीं, इस देश में एक साल भी 13 महीनों का होता है. जबकि पूरी दुनिया के हर देश में 12 महीनों का एक साल होता है.

दरअसल, अफ्रीकी देश इथियोपिया में इस साल 2011 का जश्न मनाया जाएगा. बता दें कि इथियोपिया अफ्रीका का दूसरा सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश है. यहां की जनसंख्या करीब 10 करोड़ है. यह देश हर मामले में दुनिया के तमाम देशों से अलग है. यहां नया साल 1 जनवरी को नहीं बल्कि 11 सितंबर को मनाया जाता है.

बता दें कि, इस देश में कॉप्टिक कैलेंडर के हिसाब से दिन, महीने और साल की गिनती होती है, जबकि दुनिया के बाकी देश ग्रिगोरियन कैलेंडर का इस्तेमाल करते हैं. बता दें कि, ग्रिगोरियन कैलेंडर को सन् 1582 . में पोप ग्रेगोरी ने बनाया था, जिसे जूलियन कैलेंडर की जगह पर लाया गया था.

इथियोपिया का मानना है कि ईसा मसीह का जन्म 7BC में हुआ था और इसी हिसाब से यहां दिनों की गिनती शुरू हुई, जिसकी तर्ज पर कॉप्टिक कैलेंडर बनाया गया. वहीं, दुनिया का बाकी देशों में ईसा मसीह का जन्म AD1 में बताया गया है. यही कारण है कि इथियोपिया का कैलेंडर दुनिया के बाकी देशों के कैलेंडर से 7-8 साल पीछे है.

बता दें कि इथियोपिया में सिर्फ नया साल ही नहीं, बल्कि कई त्योहार भी अलग-अलग तारीखों पर मनाए जाते हैं. यहां क्रिसमस भी 25 दिसंबर को नहीं बल्कि 7 जनवरी को मनाया जाया है.

ये भी पढ़ें- खूबसूरती बढ़ाने के लिए अपने इस अंग में लोहे के छल्ले पहनती है ये मॉडल

First published: 5 January 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी