Home » अजब गजब » Not only humans, dogs also suffer from stress which results gray muzzle hair in early age
 

इंसानों की ही तरह कुत्तों को भी होती है टेंशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 December 2016, 13:19 IST

यह खबर पढ़कर आप चौंक सकते हैं. ताजा शोध में पता चला है कि तनाव के चलते केवल इंसानों के बाल ही सफेद नहीं होते बल्कि कुत्तों के भी बालों पर तनाव का असर पड़ता है और यह सफेद हो जाते हैं.

शोधकर्ताओं ने 1 से 4 साल के कुत्तों के थूथुन (मुंह-नाक के आसपार का हिस्सा) के सफेद होते बालों की जांच की और इसकी तुलना कुत्ते के मालिक द्वारा बताए गए चिंता और आवेग के संकेतों से की गई. 

जिन कुत्तों में चिंता और आवेग के संकेत ज्यादा दिखे उनमें सफेद बालों की तादाद काफी ज्यादा थी, विशेषकर जो तेज आवाजों, अंजान जानवरों और इंसानों से डरते थे.

मालिक की मौत पर कुत्ते की वफादारी देखकर भर आएंगी आपकी आंखें

जहां काफी वक्त से इस बात की आशंका जाहिर की जा रही थी कि यह कुत्तों के मामले में ही सच है, शोधकर्ताओं का कहना है इसके नतीजे काफी चौंकाने वाले हैं. 

शोधकर्ताओं के दल ने डॉग पार्क्स, शो, पशु चिकित्सालय और अन्य स्थानों के 400 कुत्तों की जांच की. हर कुत्ते की तस्वीर खींची गई और शोधकर्ताओं ने इनके थूथुन के बाल सफेद होने को बिल्कुल सफेद नहीं और पूरी तरह सफेद के पैमाने पर रखा. 

इसके बाद कुत्तों के मालिकों से एक प्रश्नावली भरने को कहा गया जिसमें कुत्ते द्वारा की जाने वाली चिंता और आवेग के साथ अन्य व्यावहारिक गुणों संबंधी सवाल थे.

एक कुत्ता, चार दीवारें और क्रिएटीविटी की दिलचस्प कहानी, तस्वीरों की जुबानी

इसमें किसी तरह के पक्षपात या पूर्वाग्रह को समाप्त करने के लिए सभी मालिकों को कुत्तों की लाइफस्टाइल पर आधारित इस शोध के लक्ष्य के बारे में पूरी तरह बताया गया. 

एप्लाइड एनिमल बिहैवियर जर्नल साइंस

इस प्रश्नावली में के सवालों के जवाब और उनके अंक 'पूर्णतया सहमत (4)' और 'पूर्णतया असहमत (0)' के आधार पर रखे गए. 

एप्लाइड एनिमल बिहैवियर जर्नल साइंस में छपे इन नतीजों में थुथून के सफेद बालों और इन गुणों के बीच संबंध का पता चला. 

मिलिए दुनिया के सबसे बड़े कुत्ते की रेस में 8 फुट के 'मेजर' से

शोधकर्ताओं ने कुत्ते के आकार, चिकित्सीय परेशानियों आदि गुणों को भी देखा. लेकिन इनसे बालों के सफेद होने की संभावना नहीं जताई जताई जा सकती थी. 

इसके बजाए चिंता और आवेग के स्तर इस घटना के लिए बेहतर संकेत देने वाले साबित हुए. इनमें तेज-ऊंची आवाजों, अंजान जानवरों और लोगों से डर ज्यादा जुड़ा हुआ था और इनसे बालों की सफेदी ज्यादा बढ़ी. उन्होंने यह भी पाया कि फीमेल डॉग्स में बाल सफेद होने की संभावना ज्यादा होती है. 

अमेरिका स्थित उत्तरी इल्लीनॉय यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र और इस शोध के एक लेखक कैमिली किंग कहते हैं, "कुत्तों के साथ काम करने और उनके निरीक्षण के मेरे अनुभव के आधार पर मुझे संदेह था कि ज्यादा तनाव और आवेग की वजह से उनके बालों (थूथुन) के सफेद होने की ज्यादा संभावना होती है."

एक महीने तक मालिकों के लौटने का इंतजार करता रहा यह वफादार कुत्ता, जानिए फिर क्या हुआ

चार साल से कम आयु के कुत्तों में सफेद बाल होन के लिए शोधकर्ताओं ने कहा कि यह इन बातों के पूर्व संकेत होते हैं, जिनपर ध्यान देना जरूरी होता है. उन्होंने यह भी कहा कि मालिकों को कम उम्र के कुत्तों में सफेद होते बालों के संबंध में शिक्षित करने की भी जरूरत है जिससे वे समय रहते इससे संबंधी उपाय अपना सकें.

First published: 21 December 2016, 13:19 IST
 
अगली कहानी