Home » अजब गजब » Ohio Court Judge Orders inmate Mouth Taped in Courtroom During Hearing
 

कोर्ट में ज्यादा बोल रहा था आरोपी, जज ने उसी समय सुनाई ऐसी सजा कि हैरान रह गए लोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 August 2018, 11:25 IST

क्या आपने कभी सोचा है कि अगर कोई कोर्ट में ज्यादा बोले तो उसे क्या सजा सुनाई जा सकती है. अगर नहीं तो आज हम आपको ऐसी ही एक घटना के बारे में बताने जा रहे हैं. जो अमेरिका के ओहियो के कोर्ट में हुई.

दरअसल, ओहियो की अदालत में सुनवाई के दौरान एक आरोपी बहुत बोल रहा था. जज ने उसे चुप रहने की हिदायत भी दी, लेकिन उसने लगातार बोलना जारी रखा. आरोपी के कोर्ट में लगातार बोलने से केस की सुनवाई में दिक्कत आ रही थी. तभी जज ने ऐसा आदेश सुनाया जिसे सुनकर सब दंग रह गए.

कोर्ट में आरोपी के चुप ना रहने पर जज ने उसका मुंह बंद करने के लिए टेप चिपकाने का फरमान सुना दिया. ये अजीबो-गरीब आदेश देने से पहले जज जॉन रसो ने कहा कि आरोपी फ्रैंकलिन विलियम्स बार-बार बोल रहा था और उसे चुप रहने की हिदायत दी जा रही थी, लेकिन वह नहीं माना. इसके लिए जज को उसका मुंह बंद करवाने के मकसद से ऐसा फरमान सुनाना पड़ा. जज के आदेश के बाद आरोपी के मुंह पर टेप चिपका दिया गया.

कुछ समाचार चैनलों ने कोर्ट रूम का एक वीडियो भी दिखाया है. जिसमें देखा जा सकता है कि आरोपी विलियम्स ने कोर्ट रूम में नारंगी रंग का जंपसूट पहन रखा है. चारों ओर से उसे कई पुलिस अफसर घेरे हुए हैं. उसके हाथों में हथकड़ी भी पड़ी हुई हैं.एक पुलिस अफसर टेप के बड़े से टुकड़े को विलियम्स के मुंह पर चिपका रहा है.

 

बता दें कि विलियम्स लूट की 3 वारदात को अंजाम देने का आरोपी है. उसे दिसंबर 2017 में ही दोषी ठहराया जा चुका है और इस सुनवाई में सजा पर फैसला होना था. पहले मामले की सुनवाई के दौरान ही विलियम्स जेल से भी भाग चुका था, लेकिन जुलाई 2018 में उसे फिर गिरफ्तार कर लिया गया. उसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया.

जहां वो लगातार 30 मिनट तक बोलता रहा. इस दौरान जज ने उसे कई बार बोलने से रोका लेकिन वो लगातार बोलता रहा. आखिर में जज ने कहा कि मैं आपके वकीलों से बाकी दलीलें सुनूंगा और इसका मतलब है कि इनका मुंह बंद कर दिया जाए. बता दें कि जज ने विलियम्स को लूटपाट के आरोप में 24 साल की जेल की सजा सुनाई है.

ये भी पढ़ें- IndiGo Airlines की फ्लाइट में यात्री पर गिरा खतरनाक कोबरा और फिर…

First published: 6 August 2018, 11:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी