Home » अजब गजब » Old Jagannath temple of behta kanpur uttar pradesh
 

गजबः बारिश आने से पहले ही इस प्राचीन मंदिर की छत से टपकने लगता है पानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2018, 14:22 IST

अभी देशभर के कई शहरों में मानसून के दस्तक से अच्छी खासी बारिश हो रही है. ऐसे में अगर हम आपसे कहें की एक ऐसा देश में एक ऐसा मंदिर है जहां बारिश के आने से पहले वो इसकी सूचना दे देता है, तो शायद आप यकीन नहीं करेंगे. लेकिन उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में एक मंदिर ऐसा है, जिसकी भवन की छत चिलचिलाती धूप में टपकने लगता है. इसके बाद बारिश की शुरुआत होते ही छत से पानी टपकना बंद हो जाता है.

क्या कहते हैं ग्रामीण

यहां के ग्रामीण बताते हैं बारिश होने के छह-सात दिन पहले मंदिर की छत से पानी की बूंदे टपकने लगती है. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि जिस आकार की बूंदे टपकती हैं, बारिश भी उसी आधार पर होती है. यही नहीं यहां रह रहे लोग अब तो मंदिर की छत टपकने को पानी आने का संदेश को समझकर जमीनों को जोतने के लिए निकल पड़ते हैं. तो वहीं हैरान करने वाली बात यह है कि जैसे ही बारिश शुरु होती है, छत अंदर से पूरी तरह सूख जाती है.

ये भी पढ़ें-ये है दुनिया का सबसे छोटा देश, आबादी है एक मोहल्ले से भी कम

मंदिर की प्राचीनता व छत टपकने के रहस्य के बारे में, मंदिर के पुजारी बताते हैं कि पुरातत्व विशेषज्ञ एवं वैज्ञानिक कई दफा आए, लेकिन इसके रहस्य को नहीं सुलझा नहीं पाए. बस इतना पता चला कि मंदिर का निर्माण 11वीं सदी में किया गया था.

ये भी पढ़ें-अद्भुत: इस मंदिर में मूर्तियां करती हैं आपस में बात, वैज्ञानिक भी हैं हैरान

भगवान जगन्नाथ का यह मंदिर काफी प्राचीन भी है. इस मंदिर में भगवान जगन्नाथ के साथ-साथ बलदाऊ व सुभद्रा की काले चिकने पत्थरों की मूर्तियां विराजमान हैं. वहीं मंदिर के प्रांगण में सूर्यदेव और पद्मनाभम की मूर्तियां भी हैं. 

First published: 8 June 2018, 14:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी