Home » अजब गजब » oymyakon russia is the coldest place of the world where Record Low Temperatures Break Thermometera
 

ये है दुनिया का सबसे ठंडा गांव,-62 डिग्री में लोगों की हुई ये हालत

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 January 2018, 14:19 IST

पूरी दुनिया में ठंड का सितम जारी है. कहीं नदियां जम गई हैं तो कहीं झील. ठंड ने जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त कर दिया है. कनाडा में ठंड की वजह से नियाग्रा फॉल्स जम गया है. वहीं ठंड ने रूस को सबसे ज्यादा परेशान कर दिया है.

रूस के साइबेरिया में दुनिया की सबसे अधिक सर्दी पड़ रही है. साइबेरिया में बर्फ की घाटी में बसा एक गांव की हर चीज पूरी तरह बर्फ में बदल गया है. इस गांव का नाम है ओइमाकॉन. इस गांव में पारा -62 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. इसे दुनिया की सबसे ठंडी जगह माना जाता है. इस गांव की कुल आबादी 500 है.

ठंड ने यहां के लोगों का जीना मुश्किल कर दिया. सोशल मीडिया पर इस गांव की तस्वीरें खूब वायरल हो रही है. तस्वीरों में नदी, पेड़-पोधे सब कुछ जमा दिखाई दे रहा है.बता दें कि स्थानीय भाषा में ओइमाकॉन का मतलब होता है, ऐसी जगह जहां पानी जमता नहीं हो. लेकिन यहां इस का बिल्कुल उल्टा दिखाई दे रहा है. क्यों

कि यहां पानी से लेकर इंसान तक सबकुछ जमा हुआ दिखाई दे रहा है. यहां सबसे कम तापमान -72 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था. इस जगह को 'पोल ऑफ कोल्ड' भी कहा जाता है. बताया जाता है कि साल 1930 से पहले यहां कोई नहीं रहता था. लेकिन 1930 में यहां फौजी कुछ वक्त के लिए रुकते थे. फिर सरकार ने ये जगह नोमैडिक लोगों को दे दी और लोग यहां आकर बस गए. इस गांव में न नल से पानी निकलता है और न गाड़ियां चलती हैं.

यहां गाड़ियां चलाने के लिए पहले हीट गैराज में गाड़ी को रखना पड़ता है. यहां लोग जैसे ही बाहर निकलते हैं चेहरा बर्फ से जम जाता है. यहां के लोग ऐसी ही कई चुनौतियों का सामना हर रोज करते हैं.

First published: 18 January 2018, 14:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी