Home » अजब गजब » Pakistan: Hina Rabbani Khar former external affairs minister and Bilawal Bhutto romance
 

जब पाकिस्तान के राष्ट्रपति निवास में पार्टी अध्यक्ष के साथ पाई गई थीं ये विदेश मंत्री, मच गया था बवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 September 2019, 13:10 IST

भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान सुर्खियों में है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान दुनियाभर के मुल्कों से कश्मीर के मुद्दे पर उनका सपोर्ट करने की बात कह रहे हैं, लेकिन इमरान खान को मुंह की खानी पड़ रही है. इसके बाद से पाकिस्तान भारत में आतंकवाद के रास्ते मानवता को शर्मसार करने की फिराक में है.

एक तरफ पाकिस्तान आतंकवाद के सहारे नफरत फैला रहा है, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान कि एक पूर्व विदेश मंत्री के मोहब्बत के चर्चे दुनियाभर में खबरों की सुर्खियां बने थे. मोहब्बत एक ऐसा अहसास है, जिसपर किसी का वश नहीं चलता. यह न ऊंच-नीच देखता है न जात-पात. मोहब्बत में उम्र की भी कोई सीमा नहीं होती. ऐसा ही कुछ हुआ था पाकिस्तान में.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति भवन से वायरल हुए इस मोहब्बत के किस्से ने दुनियाभर में तूफान ला दिया था. तब पाकिस्तान की विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार और उस समय पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल अली भुट्टो ने कब एक दूसरे के दिलों में मोहब्बत के दरवाजे खोल दिए, इसकी भनक जब लगी तो पाकिस्तान ही नहीं, दुनियाभर के सियासी गलियारों में भूचाल आ गया था.

 

तब हिना रब्बानी खार पाकिस्तान की विदेश मंत्री थीं. हिना इतनी खूबसूरत थीं कि उनसे नजरें हटाना मुश्किल हो जाता है. लेकिन तब उनकी खूबसूरती ही उनके लिए मुसीबत बन गई थी. अपनी इसी खूबसूरती के कारण हिना को राजनीति छोड़नी पड़ी थी. क्योंकि उनकी ही पार्टी के अध्यक्ष और उम्र में 12 साल छोटे बिलावल भुट्टो को उनसे इसी खूबसूरती की वजह से प्यार हो गया था.

हिना के पति ने उनको बिलवाल भुट्टो के साथ एक बार आपत्तिजनक हालत में पकड़ लिया था. पाकिस्तान में तब पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की ही हुकूमत थी. पार्टी अध्यक्ष बिलावल अली भुट्टो और विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार कब एक दूसरे के करीब आ गए यह कोई नहीं जान पाया. लेकिन इसका खुलासा बांग्लादेश में हुआ था.

23 साल के बिलावल अली भुट्टो अपने से 12 साल बड़ी हिना की झील जैसी आंखों में इस कदर डूब चुके थे कि पार्टी का अध्यक्ष पद तक छोड़ने के लिए राजी थे. उनके पिता पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी थे. जरदारी के सामने इन रिश्तों का खुलासा उस वक्त हुआ था, जब हिना रब्बानी खार ने बिलावल को ईद-उल-फितर पर गुलदस्ते के साथ एक खत भेजा था.

 

खत में हिना ने लिखा था, "कोई शक नहीं कि हमने काफी इंतजार किया है, क्या यह समय इंतजार खत्म करने का नहीं है... ईद मुबारक." इस के बाद राष्ट्रपति निवास में हिना और बिलावल को जरदारी ने आपत्तिजनक हालत में देख लिया था. उन्होंने बिलावल को तब बहुत डांटा था. हिना को भी पद से हटाने की धमकी दी थी.

उस समय बांग्लादेश के वीकली न्यूज पेपट 'टैबलॉयड ब्लिट्ज़' में रिपोर्ट छपी थी कि बिलावल और हिना की मोहब्बत इस मुकाम तक पहुंच चुकी है, जहां से पीछे हटना दोनों के दिलों को गवारा नहीं है. हिना के मोहब्बत की गहराई में बिलावल इस कदर तक उतर चुके थे कि अपनी सियासी ताकत को भी कुर्बान करने के लिए तैयार थे.

दूसरी तरफ विदेश मंत्री हिना भी अपनी मोहब्बत को शादी के खूबसूरत मोड़ पर ले जाने के लिए पागल थीं. वह इसके लिए अपनी कुर्सी तक ठुकराने को तैयार थीं. बिलावल की दिलरुबा बनने के लिए हिना अपने अरबपति शौहर फिरोज गुलजार को भी तलाक देने के लिए तैयार थीं. 

 

पाकिस्तान के राष्ट्रपति अपने बेटे और अपनी ही सरकार में विदेश मंत्री के बीच मोहब्बत की खबर से सकते में थे. जब उन्होंने बिलावल और हिना के मोबाइल फोन रिकॉर्ड खंगलवाए तो खुलासा हुआ कि दोनों कई-कई घंटे बातें करते थे. उन्हें तब पता चला कि इश्क की आग दोनों तरफ लगी है. 

इसके बाद उन्‍होंने विदेश मंत्री हिना रब्बानी से सीधे सवाल किया था कि तुम शादीशुदा होकर मेरे मासूम बेटे के साथ संबंध कैसे रख सकती हो? हिना ने इस पर जरदारी को जवाब देता हुए कहा था, "यह उनका पर्सनल मामला है और वह इसमें दखल नहीं दे सकते."

क्या बंद होने वाले हैं देश के सारे बैंक, RBI की तरफ से आई ये बड़ी जानकारी

Video: चलती ट्रेन में चढ़ रहे युवक का फिसला पैर, फिर खुदा बनकर आया RPF का जवान लेकिन..

First published: 26 September 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी